नोएडा के मारवाह स्टूडियो में चल रहे तीन दिवसीय ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल में मशूहर फ़िल्म मेकर विवेक अग्निहोत्री ने की शिरकत , छात्रओं को दिए गुण

87

नॉएडा : फिल्म सिटी सेक्टर 16 के मारवाह स्टूडियो में चल रहे तीन दिवसीय ग्लोबल लिटरेरी फेस्टिवल में आज दूसरे दिन के समारोह में शिरकत कर छात्रों को सम्बोधित करते हुए

फिल्म मेकर व् अक्सर सुर्खियों में रहने वाले विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि फिल्म और साहित्य एक दूसरे के पूरक रहे है, जिस प्रकार एक अच्छी फिल्म के लिए निर्देशक, संगीतकार, गीतकार और कलाकारों की आवश्यकता होती है उसी प्रकार साहित्य में भी कहानी के पात्र और आधुनिकता होना बहुत आवश्यक है, एक अच्छी कहानी और एक अच्छा स्क्रीनप्ले एक बेहतरीन फिल्म को जन्म दे सकता है, जो भी करे अच्छा करे और लिखने की आदत डाले, कई बार हमारे दिमाग में अच्छा विचार आता है तो हमे तुरंत लिख लेना चाहिए क्योकि लिखी हुई बात को हम भूल नहीं सकते। साथ ही नेक्सलाई पर कहा की देश के अंदर राजनीती पर काफी हावी होता जा रहा , में ग्रहमंत्री से निवेदन करूँगा की अर्बन नक्सलाइस पर जल्दी सिकंजा कसा जाए। इस मोके पर विवेक अग्निहोत्री ने अपनी किताब ‘अर्बन नेक्सलस का विमोचन भी करवाया।

वही लिसोथो के राजदूत ने कहा की इंडिया आकर मुझे एक दिली सुकून मिलता है क्योकि यहाँ के लोग बहुत ही मिलनसार और मुस्कुराहट वाले है, जितना कलरफुल यह देश है उतना ही कलरफुल इसका साहित्य है और यहाँ के छात्रों का जोश बहुत पॉजिटिव है जो आपको ऊर्जा देता है.

मारवाह स्टूडियो के संस्थापक संदीप मारवाह ने कहा ऐसे समारोह में हमेशा अच्छा ही सुनने को मिलता है और जो भी दिग्गज यहाँ आते है वो अपनी अपनी श्रेणी में अव्वल है , मैं तो हमेशा ऐसे लोगो के सानिध्य में खुद को और युवा महसूस करता हूँ और चाहता हूँ की मेरे छात्र भी जितना ज्ञान अर्जित कर सके कर ले। इस मोके पर पंकज मित्रा, प्रकाशक राकेश बिहारी और कथाकर बालचंद्र जोशी गणमान्य लोगो ने भी अपने विचार रखे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.