सूफी म्यूजिक के बढ़ावे के लिए रहमान बनाएंगे सूफी रूट

0 87

Lokesh Goswami New Delhi :

संगीतकार एआर रहमान ने प्रेससवार्ता के दौरान कहा कि  संगीत के अनुभव को प्रोत्साहित करने और उन्हें आगे बढ़ाने के उद्देश्य से फ्रायडे   फिल्मवर्क इनविजन इंटरटेनमेंट और इन्वॉल्व्ड  मैट्रिक्स द्वारा सूफी रूट  का निर्माण किया गया है।
 इसके द्वारा पहली बार 18 नवंबर को भारत की सबसे प्रसिद्ध इमारतों में से दिल्ली की  कुतुब मीनार दिल्ली में कॉन्सर्ट का आयोजन किया जा रहा है।  इसमें प्रमुख  सूफी कलाकार जैसे नूरान  बहने मुख्तियार अली हंसराज हंस कोन्या तुर्कीश  म्यूजिक इन्सेबल  ध्रुव सांगरी और दर्विश डांसर्स  एक साथ आ रहे हैं। इस शो के फिनाले का मुख्य आकर्षित होंगे एआर रहमान जो आज सूफी रूट की  आधिकारिक  घोषणा की।

सूफी संगीत शांति स्वतंत्रता और विविधता की अभिव्यक्ति है। भारत में लंबे समय से आयोजित होने वाले कार्यक्रमों में से यह कांसेप्ट कई मायनों में अलग है। सूफी रूट भारत में पहला सूफी फेस्टिवल है।  जो कि इस विधा के मूल को एक तरह का सम्मान है। इसका स्थान यूनेस्को की विश्व धरोहरो  में शामिल क़ुतुब मीनार पर रखा गया है। जो अपने आप में इतिहास को वया  करता है। यहां पहली बार एक कांसेप्ट का आयोजन होने जा रहा है। पिछले काफी समय में यह पहली बार है।  जो जब 2 प्राचीन और सांस्कृतिक  रूप से समृद्धि सूफी संगीत की धरती तुर्की तसौफ और भारती सूफीवाद इस स्तर पर एक साथ आ रहे हैं।

 संगीत से अभिप्रेरित पीस  फेस्टिवल के प्रमोटर्स ने  इस कार्यक्रम को आगे आने वाले और वैक्लिपक  संगीत और काव्य सुनने के इच्छुक लोगों को आकर्षित करने के उद्देश्य से तैयार किया गया है साथ ही वैश्विक मंच पर इसे पहुंचाने के लिए सूफी रूट  तैयार किया है. इसके अगले  ऑडिशन में कलाकारों के  तुर्की जाने की योजना है. इसके बाद यूके और यूएई में कांसेप्ट होंगे। पूरी  दुनिया से आए कलाकारों और पर्फॉर्मेंस के लिए दिल्ली एक प्रतिष्ठित मंच होगा और सूफी संगीत और कला के मुरीद लोगों के बीच एक वास्तविक कनेक्शन बनेगा
प्रेस वार्ता करते शीतल भाटिया फ्रायडे  फिल्म वर्कर सूफी रूट की प्रमोटर  ने कहा हम लंबे समय से दिल्ली में इस अनूठे कंसेप्ट को लाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं सुखी और लोक संगीत समय से परे हैं और यह वह समय है जब इस विधा को एक मंच मिला  ताकि लोगों का ध्यान जा सके और वह इस का आनंद ले सके सूफी रूट  प्ले हमारी कई बड़ी हुई योजना है और हमें पूरा विश्वास है आने वाले सालों में इसे विश्व विश्व मंच में शामिल कर लिया जाएगा।
 इन विजन इंटरटेनमेंट के गगन तैयार तैयार ने कहा सुखी रूट को बनाने का विचार इसलिए आया क्योंकि संगीत की किस विधा को ऐसी खाती की जरूरत है ऐसे संगीत प्रेमियों की संख्या कम होगी जिन्होंने सूफी के गैर मिलावटी दोनों को सुना होगा जो वाकई में आत्मा तक पहुंचते हैं और अद्भुत कलाकारों के स्टाइल को एक साथ लाने को हम बेहद गर्व महसूस करते हैं और काफी उत्साहित हैं
सार्वजनिक रूप से घोषित होने से पहले ही इस कार्यक्रम को जिस तरह का सहयोग मिला है उसको लेकर हम बेहद खुश हैं और उत्साहित हैं हमें उम्मीद है कि संगीत की इस जादुई विद्या को सुनने के लिए हम ज्यादा से ज्यादा श्रोताओ को  एकत्रित कर पाएंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.