आप पार्टी ने मोदी सरकार पर फिर साधा निशाना

0 42

Lokesh Goswami Ten News Delhi :

आप लीडर राघव ने कहा कि जनता सावधान: बैंकों में जमा आपका सारा पैसा हड़पने की तैयारी में है मोदी सरकार, कानून बनकर तैयार

देश की नरेंद्र मोदी सरकार अब देश की जनता को एक और बड़ा झटका देने वाली है, पहले नोटबंदी के नाम पर लोगों को बैंकों की लाइन में लगाया और ग़रीब का पैसा बैंक में जमा करा दिया गया और अब मोदी जी आपके उसी पैसे को हड़पने की तैयारी कर चुके हैं। मोदी सरकार एक ऐसा कानून संसद में पेश करने वाली है जिसके लागू होने के बाद बैंकों में जमा आपका सारा पैसा बैंक हड़प जाएगी और आप कुछ नहीं कर पाएंगे।

पार्टी कार्यालय में प्रैस कॉंफैंस को सम्बोंधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राघव चड्ढा ने कहा कि ‘एक तरफ़ देश में समाज को साम्प्रदायिकता के आधार पर बांटकर बहस छेड़ी गई है और जनता का ध्यान इन ग़ैर-ज़रुरी मुद्दों की तरफ़ जानबूझकर मोड़ा हुआ है और दूसरी तरफ़ देश की मोदी सरकार चोर रास्ते से एक ऐसा कानून लाने की तैयारी में है जो इस देश की जनता के बैंक-खातों पर परमाणु बम का काम करेगा।

FRDI कानून 2017 का आर्टिकल 52

बिल का नाम है The Financial Resolution and Deposit Insurance Bill, 2017.. यह बिल पार्लियामेंट कमिटी को भेज दिया गया हैl कमिटी की रिपोर्ट संसद की टेबल पर रखी जाएगीl संसद में यह बिल पास हो जाता है तो बैंक में आपका जो भी पैसा टर्म डिपॉज़िट में होगा, उसका भुगतान आपको उसी स्थिति में किया जाएगा जब भुगतान के वक्त बैंक की आर्थिक स्थिति ठीक होगीl और ऐसा भी हो सकता है कि बैंक आपके खाते में कुल जमाराशि को ही हड़प ले। और ये प्रावधान इस कानून के आर्टिकल 52 में किया गया है।

जनधन योजना + नोटबंदी + पैसे की निकासी पर प्रतिबंध + FRDI कानून (एक सोची समझी योजना)

आपको याद होगा कि मोदी जी ने जनधन योजना, नोटबंदी, फिर अपने ही अकाउंट से पैसा निकालने की सीमा तय करना और अब FRDI कानून। यह सीरीज़ दर्शाती है कि मोदी जी की एक नीति है और वो यह कि ‘ग़रीब का पैसा निकालो और उद्योगपतियों और धन्नासेठों की जेब में डालो’। और FRDI नाम इस कानून के लागू हो जाने के बाद तो हमे अपना पैसा किसी भी बैंक में रखने से पहले उस बैंक की आर्थिक स्थिति का भी ख्याल रखना होगाl बड़े उद्योगपति अगर बैंकों से लिया लाखों-करोड़ रुपए का लोन बैंक को वापस नहीं लौटाते हैं तो उस नुकसान की भरपाई वो बैंक जनता द्वारा जमा किए गए पैसे से करेगा और उद्योगपतियों का सारा लोन माफ़ कर दिया जाएगाl यानि उद्योगपतियों का लोन माफ़ करने के लिए आम जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा ये बैंक हड़प लेंगे।

अगर आपके बैंक अकाउंट में जमा किया गया आपका पैसा (जो आपने अपने बुढ़ापे या फिर किसी बीमारी या फिर बच्चों की पढ़ाई या फिर शादी के लिए रखा होगा) वो पैसा इस कानून के लागू होने के बाद कभी भी डूब सकता है।

आपसे ब़गैर पूछे हड़प लिया जाएगा आपका पैसा

बैंक के लिए अब bail- out दरअसल bail-in बनने जा रहा हैl मतलब, पहले जब कोई बड़ा उद्योगपति किसी बैंक को लोन वापस नहीं करता था और बैंक कंगाली की कगार पर आ जाती थी तो सरकार अपनी जेब से पैसे देकर उस बैंक की मदद करती थी जिसे बेल-आउट पैकेज भी कहते हैं लेकिन अब इस कानून के ज़रिए बेल-इन सिस्टम बना दिया जाएगा यानि देश के आम लोगों का पैसा जो उनके बैंक खातों में जमा है, उसे बैंक हड़प लेगा और उद्योगपतियों का लोन माफ़ करते हुए अपने नुकसान की भरपाई कर लेगा। और ये सबकुछ आपकी मर्ज़ी के बिना किया जाएगा।

तीन तरीक़ो से बैंक हड़प लेंगी आपका पैसा

इस कानून के तहत बैंकों को तीन तरह से जनता का पैसा हड़पने के अधिकार दिए जाएंगे जो निम्नलिखित हो सकते हैं-

1. अगर आपके बचत खाते में 10 लाख रुपए की राशि मौजूद है, और आपका बैंक अगर किसी विजय माल्या जैसे उद्योगपति के लोन वापस ना लौटाने की वजह से नुकसान में चली गया है तो बैंक अपनी मर्ज़ी से आपके खाते में मौजूद 10 लाख रुपए में से घटाकर 1 लाख रुपए भी कर सकता है।

2. दूसरा तरीक़ा ये भी हो सकता है कि उपरोक्त बैंक आपके खाते में मौजूद सारा पैसा हड़प ले और आपके खाते का बैलैंस शून्य हो जाए

3. और तीसरा यह कि बिना आपकी मर्ज़ी के बैंक आपके पैसे को अगले 15-20 सालों के लिए फ़िक्स डिपॉज़िट में बदल देगा और बैंक अपनी मर्ज़ी के हिसाब से उस पैसे पर ब्याज़ भी तय करेगा जिसे आप निकाल भी नहीं सकते।

आम आदमी की नहीं होगी किसी कोर्ट में सुनवाई

इस कानून में ख़ास बात यह है कि आप उसके बाद किसी कोर्ट में भी बैंक को चैलेंज नहीं कर पाओगे क्योंकि देश की मोदी सरकार इसे कानून का रुप देने जा रही है और अगर संसद से पास करा लिया तो देश के आम इंसान की सुनवाई देश की किसी कोर्ट में नहीं होगी।

विजय माल्या जैसे लोगों का लोन चुकाने के लिए जनता के बैंक खातों पर परमाणु बम गिराएगी मोदी सरकार

उदाहरण के तौर पर जैसे विजय माल्या देश की स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) और ICICI Bank जैसी कई बैंकों का 9 हज़ार करोड़ रुपए का लोन लेकर फ़रार है, अब अगर आपका खाता उपरोक्त किसी भी बैंक में होगा और आपके खाते में मिसाल के तौर पर 2 लाख रुपए जमा होंगे तो ये बैंक अपनी ख़राब वित्तीय हालत का हवाला देकर अपने नुकसान की भरपाई करने के लिए आपके खाते से 2 लाख रुपए हड़प लेगी और ना केवल आपका पैसा बल्कि उस बैक में जिस भी आम जनमानस का खाता होगा उसकी भी जमापूंजी हड़प ली जाएगी और हम कुछ नहीं कर पाएंगे।

‘Fraud & Robbery to Dupe Indians’

मोदी सरकार ने इस परमाणु रुपी बिल का नाम The Financial Resolution and Deposit Insurance Bill, 2017. (FRDI) रखा है, दरअसल इसका वास्तविक अर्थ ‘Fraud & Robbery to Dupe Indians’ होना चाहिए।

साइप्रस देश के लोग इस कानून से बन चुके हैं कंगाल

आपको बता दें कि इससे पहले साइप्रस देश में ये कानून लागू हो चुका है और इस कानून के आने के बाद वहां भी बड़ी संख्या में आम लोगों का पैसा हड़प लिया गया था और लोग कंगाल हो गए थे। वहां की सबसे बड़ी बैंक Bank of Cyprus ने अपने खाताधारकों का सारा पैसा हड़प लिया था, इसके अलावा इस देश की एक और बैंक ने अपने सभी खाताधारकों का सारा पैसा हड़प लिया था। अब भारत में भी मोदी जी की सरकार ये कानून लाने जा रही है जिसके बाद देश की आम जनता का सारा पैसा रिस्क पर चढ़ जाएगा।

पार्टी के विधायक और दिल्ली प्रदेश के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि ‘इस कानून के लागू हो जाने के बाद ऐसा भी हो सकता है कि कभी भी अचानक से आपके मोबाइल पर आपकी बैंक का SMS आएगा जिसमें लिखा होगा ‘प्रिय ग्राहक, मोदी जी के आदेशानुसार आपके खाता संख्या XXXXXXX से आपकी सारी धनराशि निकालकर विजय माल्या का लोन माफ़ कर दिया गया है और आपके खाते में कुल बची राशि है 0.00 रुपए’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.