दादरी में अन्ना हज़ारे ने की जनसभा, नएआंदोलन की शुरुआत का बिगुल फूंका

174

PHOTO.VIDEO.STORY- JITENDER PAL- TEN NEWS ( 11/02/18)

दादरी : उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के शासन में बढ़ते अपराधों एव किसानों पर हो रहे अत्याचारों और साथ ही लोकपाल कानून में हो रही देरी को लेकर आज दादरी में एक जनसभा हुई जिसमें देश के वरिष्ठ समाज सेवक एवं अन्ना सत्याग्रह के आंदोलनकर्ता अन्ना हजारे ने इस जनसभा को संबोधित किया । जनसभा में कई हजार किसान अन्ना हजारे के समर्थन में शामिल हुए । इस मौके पर अन्ना हजारे ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस देश का सबसे बड़ा दुर्भाग्य है देश आज़ादी के 70 साल बाद भी किसानों को अपना हक नही मिला , और पिछले 22 सालों में 12 लाख किसानों ने आत्महत्या की है लेकिन देश के अंदर कितनी सरकारे आयी और चली गयी , हर सरकार ने किसानों के साथ छल ही किया है । किसानों मारने के मजबूर किया है । अन्ना हजारे ने कहा कि वो किसानों के लिए हक की लड़ाई पिछले काफी सालो से लड़ रहे है , और मरते दम तक लड़ते रहेंगे । जब तक किसानों को न्याय नही मिलता है । मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने सरकार बनने से पहले किसानों को हसीन सपने दिखाए थे लेकिन सरकार बनने के बाद किसानों के बारे सोचना बंद कर दिया । मोदीजी अब केवल बिजनेसमेनो की तरफ देखते है जो अनदाता है उनको उनके हाल पर छोड़ दिया है । उत्तर प्रदेश के किसानों के ऊपर बोला कि किसानों की जो भी समस्या है पहले उनको पड़ेंगे , अगर उत्तर प्रदेश के किसानों की मांगे है वो जायज है उनको केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के सामने रखेंगे, अगर मंत्री जी किसानों की समस्या को नजरअंदाज करते है। फिर दिल्ली के जंतर मंतर पर 23 मार्च को केंद्र सरकार के खिलाफ किसानों के हक के लिए जन आंदोलन के रूप में बिगुल फूकेंगे । समय समय पर उत्तर प्रदेश मे भी हर सरकार ने किसानों के साथ छल ही किया है लेकिन अब किसान चुप नही बैठेगा । इस मौके पर किसानों के नेता एवं समाजसेवक सुनील फौजी ने कहा कि किसानों के हक की लड़ाई को हम अन्ना हजारे के जन आंदोलन के साथ मिलकर लड़ेंगे , और हमे पूरा विश्वास है कि दिल्ली के जंतर मंतर पर 23 मार्च को उत्तर प्रदेश के किसान इस जन आंदोलन को देश का विशाल आंदोलन का रूप लेगा । और केंद्र सरकार के साथ सूबे की सरकार को भी झुकने को मजबूर कर देंगे । किसानों की हक लड़ाई से सूबे की योगी सरकार पूरी तरह से डरी हुई है । किसानों के समर्थन में आये वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे को पुलिस प्रशसन के जरिये रोकने की कोशिश की , साथ ही इस जनसभा को कानूनी दांवपेंच के जरिये स्थगित करने की कोशिश की गई । लेकिन हमने भी ठान लिया था कि किसानों के हक लड़ाई के लिए जरूर लडेंगे । और आज पुलिस प्रशासन के सामने इस ही जन सभा को आयोजित कराया गया । इस जनसभा में आये किसानों ने एक आस जागी है कुछ किसानों ने बात करते हुए कहा कि अन्ना हजारे जी ने किसानों की हक की लड़ाई में अपना समर्थन दिया है । हमे पूरा विश्वास है हमे हमारा हक जरूर मिल जाएगा ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.