अस्मिता थिएटर ने बिमटेक के स्थापना दिवस पर किया नुक्कड़ नाटक “मर्द” का शानदार प्रदर्शन

Ashish Kedia / Saurabh Shrivastav

444

मशहूर सोशल एक्टिविस्ट अरविन्द गौड़ के निर्देशन में अस्मिता थिएटर ग्रुप बीमटेक के 30वे स्थापना दिवस के मौके पर नुक्कड़ नाटक ‘मर्द’ का मंचन किया। अस्मिता थिएटर ग्रुप ने इस नाटक का मंचन एक्टिविट प्लाजा पर किया।

अरविन्द गौड़ लगातार सामाजिक बुराईयों और सामाजिक कुरीतियों के ख़िलाफ़ नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से आवाज उठाते रहे हैं। ‘मर्द’ नाटक के माध्यम से उन्होंने दर्शाया कि किस तरह एक पुरुष मर्दवादी मानसिकता के कारण अपनी भावनाओं को तो मारता ही है और आसपास के माहौल के बहकावे में आकर स्त्रियों को सम्मान नहीं देता। नाटक में एक समाज के अन्दर पुरुषों के विभिन्न रूपों को दिखाया गया है कि किस तरह उन्हें घरेलू काम करने, अपनी स्त्री को सहायता करने, स्त्रियों का सम्मान करने आदि स्तर पर समाज के अन्य कट्टर मर्दवादी सोच वालों द्वारा बहकाया जाता है। जिसके फलस्वरूप पुरुष कठोर हिंसक कदम उठा लेते हैं।

अरविन्द गौड़ का इस नाटक के लिए कहना है की “प्यार से जग जीता है इसीलिये कट्टर मर्दवादी सोच वालों के लिए यह नुक्कड़ नाटक बनाया गया है। ताकि वह प्यार की सही परिभाषा सीख पायें”।

बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट टेक्नोलॉजी में इस नाटक की प्रस्तुति अश्मिता थिएटर के कोऑर्डिनेटर विपुल कालरा के नेतृत्व में हुई।

इस दौरान गौतम बुद्ध नगर एडीऍम कुमार विनीत मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे। स्ट्रीट प्ले के मंचन के उपरांत उन्होंने बोला,”ऐसे नुक्कड़ नाटक समाज में जागरूकता फैलाते हैं और बेहद ऊर्जा और नाटकीयता के साथ यह मंचन अवश्य विभिन्न जगहों पर होना चाहिए जिससे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक यह सन्देश पहुँच सके।  “.
इस अवसर पर बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी ने कहा, “यह नाटक बेहद सराहनीय है एवम विकसित समाज को लड़का-लड़की में भेद न करने का बहुमूल्य सन्देश देता है।”

You might also like More from author