भारतीय किसान यूनियन ने खोला मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा, किसान आत्महत्या- कर्ज माफ़ी पर घेरा !

ROHIT SHARMA

73

NEW DELHI : भारतीय किसान यूनियन के द्वारा राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने किसानों की समस्याओं को लेकर प्रेस वार्ता करते हुए सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला | भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने किसानों की आत्महत्या रोकने और किसान कर्ज मुक्ति की मांग करते हुए कहां की नेशनल सैंपल सर्वे की 70वीं रिपोर्ट में एक किसान के परिवार की औसत मासिक आय 3844 रुपए है जिसमें पशुपालन भी शामिल है |

औसतन 4000 की मासिक आय में परिवार का पालन पोषण संभव नहीं है| जिसके कारण किसान पर कर्ज का भार बढ़ रहा है खेती किसानी में बढ़ते कर्ज के कारण किसान आत्महत्या कर रहे हैं | देश में किसान की स्थिति बहुत बुरी हो चुकी है | किसान के नाम पर बनने वाली सरकारी भी किसानों के लिए कोई कार्य नहीं कर पा रही है | वही भारतीय किसान यूनियन ने प्रेस वार्ता के माध्यम से सरकार से मांग की है किसानों को फसलों का उचित एवं लाभकारी मूल्य दिया जाए, देश में सभी फसलों का समर्थन मूल्य एवं खरीद गारंटी, किसानों का कर्जा पूर्णत माफ किया जाए, कृषि क्षेत्र में लंबे समय अवधि में ब्याज रहित कर्ज का प्रावधान , किसान क्रेडिट कार्ड , कर्ज के कारण आत्महत्या करने वाले किसान परिवार के लिए नीति , किसानों की न्यूनतम आमदनी तय की जाए आदि मांगों को लेकर भारतीय किसान यूनियन 13 मार्च को दिल्ली के संसद मार्ग पर किसान महापंचायत का आयोजन किया जाएगा जिसमें देश के सभी राज्यों के किसान भाग लेंगे | वहीं अगर किसान की मांगे नहीं मानी गई तो किसान विशाल आंदोलन करेगा | साथ ही राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए सभी किसानों से अपील करी है की आने वाले चुनावों में वर्तमान सरकार को कोई भी किसान वोट नहीं देगा |

You might also like More from author