परेशान बायर्स को आरटीआई का सहारा, सुपरटेक बिल्डर के खिलाफ डाली 50 आरटीआई

95

नॉएडा : आज सैंकड़ों बायर्स अपने मांगो को लेकर ग्रेटर नॉएडा अथॉरिटी पहुंचे.और अधिकारियो के सामने अपनी पिछले आठ सालों की परेशानी और झूठे आश्वासनों की आपबीती सुनाई।

इसके साथ ही बायर्स ने आरटीआई के जरिये अथॉरटी से बिल्डर से जुडी जानकारी भी मांगी है। बता दे कि इन बायर्स ने 2010 में सुपरटेक के प्रोजेक्ट में घर बुक करवाया था और अब जब साल 2018 आधा बीत चूका तब भी इन्हे घर नहीं मिला है। वही परेशान बायर्स ने बताया कि जिस रफ़्तार से काम चल रहा है उसमे अगले 2-3 साल भी शायद ही घर मिल पाए।

बिल्डर के लगातार झूठे आश्वासन से परेशान बायर्स ने आरटीआई का रास्ता चुना है. आज अथॉरिटी में पहुंचे बायर्स ने आरटीआई के ज़रिये बिल्डर से जुड़ी कई जानकारी मांगी है. आरटीआई में ये जानकारी मांगी गई है, कि बिल्डर पर कितना पैसा बकाया है, बिल्डर का एफएआर कितना बढ़ाया गया है, और उसका आधार क्या है ? बिल्डर को कितने फ्लैट की OC / CC जारी की गई है? OC / CC देने के मापदंड क्या हैं, और क्या मापदंड का पालन किया गया है?

बायर्स की परेशानी की बड़ी वजह ये है बिल्डर लगातार प्लान बदल रहा है, जिन जगहों को पार्क के तौर पर दिखाया गया था, वहां अब अवैध पार्किंग बन रही है, टावर खड़े किये जा रहे हैं. फ्लैट बड़ी संख्या में बढ़ा दिए गए हैं.

बायर्स का कहना है की हम ये जानना चाहते हैं की आखिर वो कौन सा नियम है जिससे हमको अपना आशियाना मिलने में इतनी देर हो रही है। साथ ही जिस तरह से अनियमितताएँ बरती जा रहीं हैं अगर घर मिल भी गया तो स्लम जैसा होगा।
बायर्स का कहना है की अगर जानकारी जल्द नहीं दी गई तो ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के खिलाफ बिल्डर से सांठगांठ को लेकर बड़ा आंदोलन किया जाएगा इस मौके पर प्राधिकरण में आरटीआई करने वालों में नेफोवा की तरफ से अभिषेक तोमर , संतोष चंदोला, मनीषा, जयश्री सिन्हा, दीपांकर सिंह, निशांत डाबस, नीरज, जे पी सिंह के साथ तमाम घर खरीदार मौजूद थेl

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.