कोर्ट ने दिए जी आई पी निदेशकों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश, 54 लाख हड़पने का मामला

86

PHOTO/STORY/ -JITENDER PAL-TEN NEWS ( 06/03/18)

नॉएडा : देश में चल रहे घोटालो की खबरों से अभी मन भरा नहीं था कि एक घोटाला और सामने आ गया , हलाकि ये घोटाला इतना बड़ा नहीं है कि जिससे देश हिल जाए , लेकिन इस घोटाले से हाईटेक सिटी कहे जाने वाला नॉएडा शहर जरूर हिल गया है। जी हम बात कर रहे है नॉएडा की शान कहे जाने वाले जीआईपी मॉल की। जीआईपी मॉल ( इंटरनेशनल रिक्रिएशन एंड एम्यूसमेंट लिमिटेड) के 15 निदेशकों के साथ दो अज्ञात लोगो ने मिलकर एक कारोबारी से जमीन दिलाने के नाम पर 54 लाख रूपये हड़प लिए। अब कारोबारी अपने पैसे वापस मांगता है तो जान से मारने की धमकी मिल रही है।
मामला थाना 49 का है पुलिस जानकारी के अनुसार पीड़ित मुकेश शर्मा सेक्टर 50 स्थित महागुन सोसाइटी के एक फ्लैट्स में रहते है। वह सॉफ्टवेअर डेवलमेंट कम्पनी चलाते है पीड़ित के अनुसार वह रेंट के लिए जगह तलाश कर रहे थे उन्होंने सेक्टर 38A स्थित जीआईपी की सेल्स टीम से सम्पर्क किया। सेल्स टीम ने पीड़ित को नॉएडा व् गुरुग्राम में अप्पू घर बनाने की योजना के बारे में जानकारी दी साथ ही ये भी बताया की इंटरनेशनल रिक्रिएशन एंड एम्यूसमेंट लिमिटेड कम्पनी जीआईपी की तर्ज पर गुरुग्राम में जल्द ही अप्पू घर बनाने जा रही है अगर अभी आप इस पर निवेश करते हैं तो अच्छी आमदनी होगी , साथ सेल्स टीम ने सेक्टर 38A स्थित कार्यलय में ले जाकर कम्पनी के निदेशक राकेश बब्बर , राज बब्बर ,रेधी बब्बर ,भावना बब्बर ,अपूर्वा बब्बर , संजीव बेवर्ता , मोनी विजेश्वर ,ज्ञान विजेश्वर ,राजीव गुसाईं , नरेंदर कुमार सुराना आदि से मुलाकात कराई। सभी ने पीड़ित को विश्वाश दिलाया की दो साल के अंदर ग्रेट इंडिया प्लेस की तर्ज पर कॉमर्शल प्रॉपर्टी बनाकर दी जाएगी। साथ में सभी निदेशकों ने कहा की हमने 42 एकड़ जमीन भी खरीद भी ली है जिस पर अप्पू घर बनेगा ,हमने एनओसी ,नक्सा भी पास करा लिया है ,साथ ही पीड़ित को निदेशकों ने लालच देते हुए कहा की अगर वो जमीन खरीदते है तो उन्हें 250 रूपये स्कुआर फिट के हिसाब से मासिक कब्ज़ा रेंट भी दिया जायेगा। पीड़ित ने जब दिलचस्पी नहीं दिखाई तो निदेशक ने प्रोजेक्ट के सभी कागजात लेकर पीड़ित के घर पहुंच गए और पीड़ित पर दवाब बनाकर इस प्रोजेक्ट में इन्वेस्ट करने कहा गया। पीड़ित ने 500 स्कुयार फिट एरिया ग्राउंड फ्लोर अप्पू घर में बुक करा लिया। साथ कम्पनी के निदेशक को चेक के द्वारा 54 लाख रुपये की पेमेंट भी कर दी। ये एमओयु फरवरी 2012 में हुआ था उसके बाद निदेशक ने 3 साल में कब्ज़ा देने की बात कही , साथ ही कुछ माह तक टीडीएस काट कर सवा लाख रूपया रिटर्न भी दिया।
लेकिन बाद में रिटर्न आना भी बंद हो गया , जब पीड़ित ने कम्पनी द्वारा गुरुग्राम में बताई जमीन का मुआयना किया तो पता चला की ये जमीन फर्जी है। जब पीड़ित मुकेश ने कम्पनी से पैसा वापस माँगा तो कम्पनी के वर्तमान निदेशक गौरव सचदेवा ,मेवा सिंह ,अमरजीत सिंह ने दो अज्ञात लोगो के द्वारा पीड़ित को घर पर जाकर जान से मारने की धमकी दी और झूठे केस में फसाने को कहा , पीड़ित ने थाना 49 में इनके खिलाफ शिकायत लिखवाने गया तो पुलिस ने शिकायत लिखने से मनाकर दिया , जब पीड़ित मुकेश शर्मा ने थक हारकर कोर्ट की शरण में जाना पड़ा। अब कोर्ट के आदेश पर पुलिस ने कम्पनी निदेशकों के खिलाफ केस दर्ज किया है

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.