डीएलएफ फाउंडेशन द्वारा नोएडा में बनाया गया सरकारी प्राथमिक मॉडल स्कूल , जिलाधिकारी ने किया उद्घाटन

90

नॉएडा : जनपद के सरकारी प्राथमिक स्कूलों की दसा और दिशा सुधारने के लिए बड़ी बड़ी संस्था आगे बढ़कर पहल कर रही है। जिसकी वजह से आज प्राइमरी स्कूलों में तस्वीर बदल गयी है । ये संस्था स्कूलों को गोद लेकर बच्चो की सभी सुविधा पर काम कर रही है। स्वच्छ व् स्वास्थ को ध्यान में रखकर स्कूलों में गर्ल्स और टॉयलेट , पीने के लिए आरओ वाटर , शिक्षा को डिजिटल तरीके से बच्चो को देना और साथ ही कम्प्यूटर की क्लास , बच्चो को खेल खुद में भी जागरूक करना , इन सभी चीजों पर काम किया जा रहा है। इनका एक ही मकसद है अगर सरकारी स्कूलों में बच्चो के लिए सभी सुविधा मौजूद होंगी , इससे बच्चो का मनोबल बढ़ेगा. साथ ही शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा।

आज नॉएडा के सेक्टर पांच स्थित हरौला गांव में सरकारी प्राथमिक मॉडल स्कूल डीएलएफ फॉउंडेशन की तरफ से सरकारी स्कूलों में कंप्यूटर प्रयोगशालाओं, बाल संसाधन केंद्र और पुस्तकालय की स्थापना डीएम बीएन सिंह व् डीएलएफ फॉउंडेशन के सीनियर मेजर जनरल केवीएस ललोत्रा ने मिलकर इस कार्यक्र्म का उदघाटन किया , मोके पर डीएम सिंह ने स्कूल का निरक्षण किया साथ ही स्कूली बच्चो से डीएलएफ फॉउंडेशन की तरफ से मिल रही सुविधाओं के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने कहा कि हमारा सपना है जनपद के सरकारी स्कूल के बच्चो को शिक्षा के लिए किसी भी चीज से मोताज नहीं रहना पड़ेगा , हमने जनपद के 84 स्कूलों को इंट्रीग्रेटेड डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के जरिये सुविधा देने का काम डीएलएफ , एचसीएल जैसी बड़ी संस्थाओ को दिया है। जल्द ही जनपद के सरकारी स्कूलों की काया पलट जाएगी , डीएलएफ फॉउंडेशन को जनपद के 20 स्कूलों को गोद दिया है। जिसमे से नॉएडा व् बिसरख ब्लॉक 10 स्कूलों को इंट्रीग्रेटेड डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के जरिये सुविधा दी गयी है। आज स्कूली बच्चे इन सुविधाओं को पाकर खुश है।

वही डीएलएफ फाउंडेशन के मेजर जनरल केवीएस ललोत्रा ने बताया कि पहल करते हुए अभी नोएडा के बिसारख ब्लॉक में 10 सरकारी स्कूलों को डीएलएफ फाउंडेशन द्वारा बेहतर किया गया है। इन स्कूलों में कुल छात्रों की संख्या 3096 है।

डीएलएफ फाउंडेशन ने तीन चरणों में 20 सरकारी स्कूलों को अपग्रेड करने का कार्य शुरू किया है। पहले चरण में अब तक 10 सरकारी स्कूलों को सुधारा गया है। अगले 2 चरणों में शेष फाउंडेशन इन सरकारी स्कूलों में बाल संसाधन केंद्र, आईसीटी कक्ष का निर्माण, पुस्तकालय के लिए वाटर कूलर लगाना, लड़के-लड़कियों और शिक्षकों के लिए अलग शौचालय, स्कूल का रंगरोगन, कक्षाओं के लिए ग्रीन बोर्ड जैसी सुविधाओं को शुरू करके शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार करना चाहता है।

छात्रों के लिए बेंच और डेस्क का प्रावधान किए , सिस्टम, पुस्तकालय, झूला, स्कूल परिसर में बागवानी और कई अन्य सुविधाओं को भी बेहतर किया जा रहा है।

नॉएडा के डीएम सिंह के साथ हमारी भागीदारी के पीछे का उद्देश्य इन स्कूलों में शैक्षिक और सह- शैक्षिक क्षेत्र में सुधार करना है जहाँ शिक्षक और छात्र दोनों को प्रगति करने का अवसर मिल सके।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.