जीएसटी से यूपी में रोडवेज का सफर हुआ महंगा

0 73

PHOTO.VIDEO.STORY- JITENDER PAL- TEN NEWS

नोएडा। देशभर में एक तरफ लोगों में जीएसटी को लेकर अभी भी असमंजस की स्थिती है तो वहीं इसका प्रभाव यूपी रोजवेज की बसों में सफर करने वाले मुसाफिरों की जेब पर भी पड़ रहा है। दरअसल, 1 जुलाई से देश में जीएसटी लागू होने के बाद से उत्तर प्रदेश परिवाहन निगम की एसी बसों के किराए में 5 फिसदी जीएसटी शुल्क लगने लगा है। जिसके चलते इनके किराए में 12 रुपये से लेकर 60 रुपये तक की बढौतरी हुई है। हालांकि साधारण बसों के किराए पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा है।
इस संबंध में नोएडा के एआरएम सतेंद्र कुमार वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि देश में जीएसटी लागू होने के साथ ही यूपी रोडवेज की एसी बसों के किराए में 5 फीसदी की बढौतरी हुई है। उन्होंने बताया कि नोएडा से चार रूट- इलाहाबाद, लखनऊ, आगर और अलीगढ़ के लिए कुल 13 एसी बसें चलती हैं जिनके किराए पर 5 फीसदी जीएसटी शुल्क लगने लगा है। जिसके चलते किराए में 12 रुपये से 60 रुपये तक की बढौतरी हुई है। जिसका मुसाफिरों पर काफी असर भी देखने को मिल रहा है।
जीएसटी लागू हो ने के बाद एसी बसों के नए किराए की दरें
इलाहाबाद – 1208 रुपये (746 कि.मी)
लखनऊ – 998 रुपये (616 कि.मी)
आगरा – 376 रुपये (219 कि.मी)
अलीगढ़ – 221 रुपये (135 कि.मी)
बढ़े किराए को लेकर मुसाफिरों में रोष
त्यौहारों पर महिलाओं को किराए में कोई छूट नहीं
एआरएम ने बताया कि रक्षाबंधन और अन्य किसी त्यौहारों पर महिलाओं को बसों के किराए पर किसी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार ने ऐसा कोई प्रावधान फिलहाल लागू नहीं किया है। इसलिए किसी भी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी।
रक्षाबंधन पर चलेंगी अतिरिक्त बसें
एआरएम सतेंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि रक्षाबंधन पर मुसाफिरों की बढ़ती तादाद को ध्यान में रखते हुए चार रूट- मेरठ, लखनऊ, आगरा और अलीगढ़ के लिए अतिरिक्त बसें चलाईं जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस दौरान इन रूटों पर लोकल बसों का भी संचालन किया जाएगा।

जीएसटी लागू होने के बाद किराए में हुई बढौतरी को लेकर एसी बसों में सफर करने वाले मुसाफिरों में रोष का माहौल है। यूपी परिवाहन निगम की एसी बस में नोएडा से अलीगढ़ सफर करने वाले एक यात्री ने बताया कि सरकार को बसों को जीएसटी के दायरे से बाहर रखना चाहिए क्योंकि इससे सभी लोगों को बहुत दिक्कतें हैं।

 

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.