महागुन सोसाइटी उपद्रव में 500 पर मुकदमा 13 गिरफ्तार, देखें एसपी सिटी का बयान

62

PHOTO.VIDEO.- JITENDER PAL- TEN NEWS

STORY BY – ROHIT SHARMA

हाईटेक शहर नोएडा के सेक्टर -78 स्थित महागुन मॉर्डन सोसाइटी में हुए तांडव को लेकर पुलिस प्रशासन ने महागुन मॉर्डन सोसाइटी को छावनी में तब्दील कर दिया है | आपको बता दे की महागुन मॉर्डन सोसाइटी में हुए हंगामे के बाद पुलिस प्रशासन ने 4 मुकदमे दर्ज कर 13 लोगों को अबतक गिरफ्तार कर लिया है साथ ही 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया | वही नोएडा के एसपी सिटी अरुण कुमार सिंह का कहना है की 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है वही दूसरी सीसीटीवी के माध्यम से जो लोग हंगामा कर रहे है उनकी पहचान की जा रही है. इसके अलावा मामले के जो दोषी फरार चल रहे है उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा |

क्या है पूरा मामला

सेक्टर-78 स्थित पॉश महागुन मॉर्डन सोसाइटी में 3-4 करोड़ रुपये तक के फ्लैट हैं। बुधवार तड़के 4 बजे से शुरू हुआ गतिरोध 6 बजे तक हंगामे में तब्दील हो गया। करीब पांच घंटे सोसाइटी में बाहरी लोगों का कब्जा रहा। इस दौरान 2750 परिवारों के करीब 4500 लोग दहशत में अपने घरों में कैद रहे। मर्चेंट नेवी में कैप्टन मित्तुल सेठी वाइफ हर्षू सेठी और 7 साल के बेटे के साथ सोसाइटी के मैनचेस्टर 5 टावर में ग्राउंड फ्लोर पर स्थित फ्लैट नंबर 12 में रहते हैं। उनके यहां पर जोरा नाम की महिला पिछले 6-7 महीने से छह हजार रुपये महीना की पगार पर घरेलू काम कर रही थी। हर्षू सेठी सेक्टर-116 में प्ले स्कूल चलाती हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक हर्षू के घर के अलावा जोरा सोसाइटी में ही 12 घरों में काम करती थी। बुधवार सुबह को जब सोसाइटी के अधिकांश परिवारों में बच्चों को स्कूल भेजने की तैयारी चल रही थी, तभी गेट के बाहर हंगामा शुरू हो गया। गार्डों ने थोड़ी देर तक भीड़ को काबू करने का प्रयास किया, लेकिन बहुत अधिक लोग होने से गार्ड भी काबू नहीं कर पाए। इसके बाद परिसर में उग्र भीड़ घुस आई। गमलों में तोड़फोड़ की गई है, कई फ्लैटों पर पत्थर बरसाए गए हैं। हर्षू ने बताया कि मंगलवार को जोरा उनके यहां काम करने आई थी। उस दौरान उन्होंने उसे घर से चोरी करते पकड़ लिया। इस पर उन्होंने कहा कि घर में लगे कैमरे में उसकी हरकत कैद हो गई है। इसकी वह सोसाइटी के मैनेजमेंट से शिकायत करेगी। हर्षू के अनुसार उन्होंने जोरा को 10 हजार रुपये चोरी करने की बात की, जोरा ने इसे स्वीकार भी किया वह उसे लेकर मैनेजमेंट के फैसिलिटी रूम आ रही थी। इस दौरान वह दुपट्टा लेने के लिए अंदर घुसी और लापता हो गई। उसका मोबाइल फोन उन्हीं के पास था। इसके बाद उन्होंने फैसिलिटी रूम पर जाकर उसकी शिकायत की और उसका मोबाइल फोन वहीं गार्ड को सौंप दिया। उन्होंने पति और बच्चे के साथ बाथरूम में छिपकर जान बचाई।

महिला के पति का आरोप बंधक बनाया

रोजाना शाम 7 बजे घर लौटने वाली जोरा जब रात करीब 8 बजे भी सेक्टर-78 की झुग्गियों में घर नहीं पहुंची, तो पति अब्दुल सत्तार ने उसे फोन करना शुरू किया। मूल रूप से पश्चिम बंगाल के कूच विहार का रहने वाले अब्दुल पत्नी जोरा के अलावा तीन बेटों के साथ यहां रहता है। वह ग्रेटर नोएडा में शटरिंग ठेकेदार के पास मजदूरी करता है। उसने बताया कि मंगलवार रात में फोन करने पर उसका मोबाइल बंद जा रहा था। वह उसे तलाशते हुए मंगलवार रात करीब 8:30 बजे सोसाइटी के गेट पर पहुंचे। वहां पर गार्ड ने बताया कि रजिस्टर में उसकी एंट्री तो है, लेकिन वह बाहर नहीं निकली है। जोरा के खिलाफ मैनचेस्टर 5 के फ्लैट नंबर 12 में रहने वाली मैडम ने चोरी करने की शिकायत की है। इसके बाद उन्होंने 100 नंबर पर फोन करके मामले की सूचना दी। रात करीब 11 बजे पहुंची पुलिस को उन्होंने पूरी घटना के बारे में बताया। इसके बाद पुलिस उन्हें लेकर सोसाइटी के अंदर उस फ्लैट पर ले गई। वहां पुलिसकर्मियों ने बताया कि उसकी पत्नी नहीं है। सुबह वह फोटो थाने लाकर देगा तो रिपोर्ट दर्ज हो जाएगी। रात भर वह सोसाइटी के आसपास उसे खोजते रहे और बुधवार तड़के 4 बजे सोसाइटी के गेट पर पहुंच गए। उन्होंने वहां काम करने वालों से पूरी घटना के बारे में बताया। जोरा के सोसाइटी से बाहर नहीं आने पर अनहोनी के बीच सभी आक्रोशित हो उठे। वही दूसरी तरफ सोसाइटी मैनेजमेंट ने बताया है कि नौकरानी मंगलवार शाम को बेटिना टावर के 25वीं मंजिल पर स्थित एक फ्लैट में रहने वाली बुजुर्ग महिला के यहां जाकर बीमारी का बहाना बनाकर सो गई थी। इसके बाद रात में महिला ने उसे जगाया भी, लेकिन वह उठी नहीं। इसके बाद सुबह महिला ने ही सिक्युरिटी को गेट पर फोन करके उसके बारे में बताया। इसके बाद गार्ड उसे अपने साथ लेकर गए। लॉबी की सीसीटीवी फुटेज भी गार्ड उसे लाते हुए दिख रहे हैं। तब तक महिला बिल्कुल ठीक हालत में थी। बाद में लोगों के उकसाने पर पूरा ड्रामा किया गया |

You might also like More from author