परिवहन विभाग के खिलाफ अपनी मांगों को लेकर ई-रिक्शा चालक करेंगे भूख हड़ताल

Jitender pal (Photo/Video) By Lokesh Goswami Ten News Delhi :

385

नोएडा : बिना रजिस्ट्रेशन वाले ई – रिक्शा चालकों पर एक फिर संकट के बादल चाहने जा रहे है । क्योकि परिवहन विभाग ( एआरटीओ) अबकी बार सख्त तेवर अपना चुका है । साथ ही 26 फरवरी से बिना रजिस्ट्रेशन वाले ई रिक्शा के खिलाफ अभियान की योजना बना चुका है । वही दूसरी तरफ बिना रजिस्ट्रेशन वाले ई रिक्शा चालक परिवहन विभाग के इस फैसले से काफी परेशान नजर आ रहे है अपना दर्द ए बयां कर रहे है । कि उनको एक बार फिर से रजिस्ट्रेशन कराने का मौका मिलना चाहिए । पैसे की आर्थिक तंगी के कारण उन्हें रजिस्ट्रेशन कराने में काफी समस्या आ रही है, ई रिक्शा चालक विकास समिति के बबलू प्रधान एवं रवि डेडा ने बताया कि अगर एआरटीओ विभाग गरीब ई रिक्शा चालकों के बारे में थोड़ा सोचा जाए , उनकी आर्थिक मजबूरी को देखते हुए , उन्हें ई रिक्शा का रजिस्ट्रेशन कराने का कम से कम 6 महीने का समय दिया जाए ।

अगर एआरटीओ विभाग अपनी मनमानी करने पर कायम रहता है । तो ई रिक्शा चालक मजबूरन सड़क पर उतरना पड़ेगा , साथ ही अगर गरीब ई रिक्शावालो के बारे में नही सोचा गया ,तो 22 फरवरी को नोएडा के सभी ई रिक्शा हड़ताल पर चले जायेंगे , और एआरटीओ विभाग कार्यलय के सामने हजारो ई रिक्शा चालक भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे , जब तक कोई भी ई रिक्शा चालक नही उठेगा जब तक रिक्शा चालक मोहलत वाली मांग को एआरटीओ विभाग नही मान लेता है। उधर एआरटीओ प्रशासन ए के पांडेय ने बताया कि कुछ दिन पहले ई रिक्शा चालक के संगठन से मिलकर पूरी जानकारी दे चुके है । साथ ही जो भी ई रिक्शा चालक को कोई भी परेशानी है तो सेक्टर 33 स्थित कैम्प कार्यलय में आकर समस्या का हल कर सकते है । मगर और समय नही मिलेगा । अपने रुख पर कायम है और 26 फरवरी को ये अभियान की शुरुवात जरूर होगी । अब देखना होगा कि 22 फरवरी को ई रिक्शा चालकों की एआरटीओ की आमने सामने की लड़ाई क्या मोड़ लाती है , इस लड़ाई में कौन झुकता है , ये आने वाला समय ही बताएगा ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.