डीजे – ध्वनि प्रदुषण रोकने के लिया नोएडा पुलिस ने जारी किया आदेश , क्या अब होगी कड़ी कार्यवाही ?

ROHIT SHARMA / ASHISH KEDIA

126

(08/03/18) नोएडा  :–

नोएडा के विभिन्न सेक्टरों में रोज रात शादी विवाह समारोह में हो रहे ध्वनि प्रदूषण से निवासियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता है | दरसल सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी नोएडा में देर रात तेज आवाज में गाने बजाने का दौर लगभग रोज ही चलता रहता है | ऐसे समय में जब विद्यार्थियों की परीक्षाएं चल रही हैं और प्रधानमंत्री मोदी स्वयं बच्चों के प्रोत्साहन करने के लिए आगे आ रहे हैं उस समय में शहर के विभिन्न रिहायशी इलाकों में रोज रात बढ़ता शोर बेहद चिंता का विषय है। जिसको लेकर नोएडा के निवासियों ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से इस मामले में लगातार शिकायतें करते रहे हैं। जिसके मद्देनजर बुधवार को गौतम बुद्ध नगर पुलिस द्धारा एक सरकुलर जारी कर देर रात म्यूजिक बजाने पर रोक का कड़ाई से पालन सुइश्चित करने की बात कही गई थी। हालाँकि कल भी समय ख़तम हो जाने के बाद कई सेक्टरों  में तेज आवाज में गाने बजने की शिकायतें आती रही।

टेन न्यूज़ जनहित में इस मुद्दे को बेहद गंभीरता से उठाता रहा है। इस मामले को लेकर टेन न्यूज़ की टीम ने दिखाया की किस तरह नोएडा के विभिन्न सेक्टरों में रोज रात शादी विवाह समारोह में हो रहे ध्वनि प्रदूषण से निवासियों को खासी परेशानी का सामना पड़ रहा है | नोएडा के सेक्टर 44 स्थित कार्तिक कुंज की पदाधिकारी रेनू ने इस मामले में टेन न्यूज़ टीम से खास बातचीत भी की थी और सेक्टर की समस्या को उठाया था | उनका कहना है की आज के समय में दसवीं और बारहवी के एग्जाम चल रहे है , जिससे बच्चों को पढ़ाई करने में काफी दिक्क़ते आ रही है | साथ ही उन्होंने कहा की इसकी शिकायत जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन से की , लेकिन उनके खिलाफ कोई भी कार्यवाही नहीं की है | जिसको लेकर कार्तिक कुंज की पदाधिकारी रेनू ने टेन न्यूज़ के नोएडा व्हाट्स एप पर इस मामले पर चर्चा की गयी | जिसके बाद गौतम बुद्ध नगर के एसएसपी लव कुमार ने इस मामले को संज्ञान में लिया , साथ ही सभी पुलिसकर्मियों को निर्देश दिए की नोएडा में अब से देर रात कोई भी कार्य्रकम में ध्वनि प्रदूषण नहीं होना चाहिए | साथ ही लव कुमार का कहना है की अगर कोई भी इस आदेश का विरोध करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी |

बच्चों की पढाई और बुजुर्गों के स्वास्थ से जुड़े इस मुद्दे पर पुलिस ने ध्यान देना तो शुरू कर दिया है परन्तु इसका सम्पूर्ण समाधान होता है या सिर्फ खानापूर्ति यह समय के साथ ही पता चलेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.