नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट जमीन अधिग्रहण के लिए धारा 11 व 15 हुई लागू

Abhishek Sharma / Photo & Video By Baidyanath Halder

104

Greater Noida (02/11/18) : ग्रेटर नोएडा स्थित जेवर में बन रहे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के कामों में तेजी आती हुई नजर आ रही है यमुना एयरपोर्ट का कंसेशन एग्रीमेंट बनकर तैयार हो चुका है जिसे पीडब्ल्यूसी ने 22 अक्टूबर को यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह और नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (निआल) को सौंप दिया गया था। भेजे गए एग्रीमेंट का परिक्षण नागरिक उड्डयन विभाग ने पास कर दिया है। प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग एंड इंप्लीमेंटेशन कमेटी की ओर से पास करने के बाद ही इसे कैबिनेट के समक्ष पेश कर दिया गया है।

वही इस मामले में यमुना प्राधिकरण के ओएसडी एस के भाटिया ने बताया कि प्राधिकरण ने पीडब्ल्यूसी को जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की टीईएफआर तकनीकी आर्थिक फिजिबिलिटी रिपोर्ट के साथ कंसेशन एग्रीमेंट तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। नागरिक उड्डयन विभाग ने करीब एक हफ्ते में कंसेशन एग्रीमेंट का परिक्षण किया , जिसमे सारी चीजे पॉजिटिव मिलने के बाद इसे उत्तर प्रदेश सरकार के पास भेज दिया गया है।

यमुना प्राधिकरण के ओएसडी एस के भाटिया ने एक साक्षात्कार में बताया कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 1334 हेक्टेयर जमीन की आवश्यकता थी , जिसमे 1239 हेक्टेयर जमीन किसानों की और 95 हेक्टेयर जमीन सरकार की है। एयरपोर्ट के निर्माण के लिए भू-अधिनियम 2013 के तहत 70 फीसदी किसानों की सहमति की जरूरत पड़ती है , लेकिन 72 फीसदी किसानों ने अपनी सहमति दे दी है। जिससे जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण का रास्ता साफ़ हो गया है। अब धारा-15 लगाई तहत अधिसूचना जारी की गई है , जिसमे किसान 60 दिन के अंदर अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.