विभिन्न मांगों को लेकर किसानों ने दिया ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण पर धरना

123

Saurabh Kumar

आज संयुक्त किसान अधिकार आंदोलन तथा अन्य किसान संगठनों ने ग्रेटर नॉएडा प्राधिकरण के बाहर जाम लगाकर धरना प्रदर्शन किया साथ ही पुतला दहन भी किया। किसानों ने ये प्रदर्शन उनकी लम्बे समय से लंबित पड़ी मांगो जैसे की आबादी की बैकलीज, 10 फीसदी भूखंड आवंटन तथा युवाओं के लिए औद्योगिक इकाईओं में रोजगार के संदर्भ में किया।

किसानों ने प्राधिकरण पर आरोप लगाया की प्राधिकरण के अधिकारी लम्बे समय से उन्हें गुमराह कर रहे है और यही कारण है की हमारी किसी समस्या का समाधान आज तक नहीं हो पाया।

किसानों द्वारा बताया गया की विभिन्न किसान संगघठन ने बुधवार को इन तमाम मांगों को लेकर प्राधिकरण के सीईओ से वक्त मांगा था। सीईओ द्वारा वक्त दिए जाने पे करीब 22 गांवो के किसान प्राधिकरण पहुंचे थे पर सीईओ ने पांच ही किसानों से वार्ता की अनुमति दी। जिस पर किसान नाराज हो गए और वार्ता का बहिस्कार कर दिया और बाहर ही धरने पे बैठ गए।

अखिल भारतीय गुर्जर परिषद् के रविंदर भाटी ने कहा की “ऐसा कर के सीईओ किसानों के बीच फूट डालना चाहते है। उनका ये रवैया तानाशाही है जिस तरह वो किसानो से वार्ता भी नहीं करना चाहते है। बैकलीज के अब तक 2173 मामले बोर्ड के पास है जिन में से अभी तक सिर्फ 200 में ही किसानों के पक्ष में बैकलीज हो सकी है”।

 

इस मौके पर अजब सिंह भाटी, डॉ रूपेश वर्मा, प्रवीण भारतीय, महेश भाटी तिलपता सुखबीर आर्य प्रदीप भाटी जिला अध्यक्ष गुर्जर परिषद सुभाष कसाना गुजर परिषद सर्वनाम चंदीला देवेंद्र मुखिया संदीप भाटी अजयपाल ब्रजवीर भाटी जगवीर नंबरदार विजेंद्र आदि सैकड़ों किसान उपस्थित रहे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.