मैजिंदर सिंह सिरसा ने दिया किरपाल सिंह का समर्थन, नहीं होंगे जस्टिस आयोग में पेश

111

Lokesh Goswami | Rohit Sharma New Delhi :

दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के महासचिव मैंजिंदर सिंह सिरसा ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया की जस्टिस रणजीत सिंह आयोग को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। आयोग द्वारा एसजीपीसी के प्रधान प्रो. किरपाल सिंह बडूंगर को भेजे गए समन का न मानने का फैसला किया है। एसजीपीसी की अंतरिम कमेटी ने कहा है कि आयोग के समक्ष एसजीपीसी का कोई सदस्‍य पेश नहीं होगा।

समिति के महासचिव मैंजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि जस्टिस रणजीत सिंह कांग्रेस पार्टी के संरक्षण पर आयोग ने यह कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी केवल सिख पंथ के खिलाफ काम कर रही है, क्योंकि कांग्रेस पार्टी सिख पंथ के दो शीर्ष संगठनों को काटने की प्रक्रिया में है। शिरोमणि अकाली दल शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के खिलाफ न्यायमूर्ति रंजीत सिंह आयोग द्वारा उठाए गए कदमों के खिलाफ सभी सिख प्रबंधन है ।

उन्होंने कहा, “शिरोमणि गुरुद्वारा कार्यकारी समिति के द्वारा जो निर्णय लिया गया कि अकाल तख्त और एसजीपीसी के किसी भी प्रतिनिधि आयोग के समक्ष पेश नहीं होंगे, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति भी इस फैसले का समर्थन करती है।

You might also like More from author