कांशीराम कालोनी में सुरक्षा गार्ड तैनात

114

ग्रेटर नोएडा। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कांशीराम शहरी गरीब आवासीय योजना के तहत बने आवासों की सुरक्षा को चाक-चैबंद कर दिया गया है। इन आवासों में बार-बार चोरियां हो रही थी और असमाजिक तत्वों का बोलबाला रहता था। इसलिए डूडा विभाग के निर्देश पर नोएडा और ग्रेटर नोएडा की कॉलोनियों में सुरक्षा गार्ड तैनात कर दिए गए हैं। अब कोई भी वाहन बगैर स्टीकर के कॉलोनी में नहीं प्रवेश कर सकेगा। डूडा विभाग द्वारा कांशीराम शहरी गरीब आवासीय योजना के तहत नोएडा और ग्रेटर नोएडा में १५०० आवास निर्मित किए गए हैं। आवासों में पिछले कुछ दिनों में कई घरों में चोरियां हो चुकी हैं। बीते १० मार्च को फ्लैट नम्बर ११० में चोरी हुई। इसके बाद ११ मार्च को एक साथ फ्लैट नम्बर ८२, १३०, १३१ और १३४ में चोरी हुई। इसकी शिकायत पुलिस से की गई, मगर कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। इसकी शिकायत आवंटियों ने डीएम से की थी। डीएम ने डूडा अफसर को कार्रवाई के निर्देश दिए थे। डूडा अफसर रजनी सिंह ने आवंटियों को सुरक्षा गार्ड तैनात करने का सुझाव दिया था। सभी आवंटियों पर मंथली चार्ज तय कर दिया गया है। रजनी सिंह ने बताया कि जिन आवंटियों के पास बाइक है, उन पर १०० रूपए, जिनके पास कार है, उन पर १५० और अन्य पर ५० रूपए प्रति माह चार्ज किया गया है। इस पैसे से सुरक्षा गार्ड रखे गए हैं, जो कॉलोनी में आने वालों का डॉटा रखेंगे। कॉलोनी निवासी सुदेश कुमार का कहना है कि कॉलोनी निवासियों के वाहनों के लिए स्टीकर भी प्रिंट कराए गए हैं। सभी वाहनों पर स्टीकर होंगे। जिन्हें गार्ड बगैर रोक-टोक के अंदर आने देंगे और जिन पर स्टीकर नहीं होंगे, उस वाहन का नम्बर आदि रजिस्टर में नोट किया जाएगा। डूडा अधिकारी का कहना है कि नोएडा में अभी पांच गार्ड रखे गए हैं। जबकि ग्रेटर नोएडा के बिरौडी में बने आवास पर दो गार्ड रखे गए हैं। घोड़ी बछेड़ा में बनी कॉलोनी में अभी गार्ड नहीं लगे हैं, जहां जल्द गार्ड की तैनाती कर दी जाएगी।

Comments are closed.