जिले के सभी न्याय पंचायतों में खोल जाएंगे बैंक शाखा

0 113

प्रभारी जिलाधिकारी व अपर जिलाधिकारी भगवान सिंह यादव ने कहा कि जिले के आर्थिक विकास में बैंकर्स की बहुत ही अहम भूमिका है। सभी बैंक के अधिकारी इस जिम्मेदारी को समझें और सरकार द्वारा चलाई जा रही जनकल्याणकारी योजनाओं में पात्र लाभार्थियों को रिण उपलब्ध कराएं।
एडीएम कलैक्टेªट सभागार में लीड बैंक द्वारा त्रिमासिक डीएलआरसी की बैठक की समीक्षा करते हुए पाया कि संचार के इस युग में अभी भी जनपद की प्रत्येक न्याय पंचायत स्तर पर बैंक शाखा नहीं है। जिसके कारण ग्रामीणों को बैंक कार्य के लिए दूर जाना पड़ता है। जिसके कारण ग्रामों का आर्थिक विकास भी नहीं हो पा रहा है। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि जनपद में सर्वे कराकर यह देखा जाए कि किस न्याय पंचायत स्तर पर बैंक शाखा नहीं है और यहां पर शाखा खोले के लिए डीएलआरसी के माध्यम से प्रस्ताव पास कर उच्च स्तरीय कार्यवाही कराने का निर्णय लिया गया। एडीएम ने कहा कि बैंक जनकल्याणकारी योजनाओं में पात्र व्यक्तियों का चयन प्राथमिकता के आधार पर करें और उन्हें रिण मुहैया कराएं। साथ शाखाओं में योजनाओं के तहत जो आवेदन पत्र लम्बित हैं, उनका त्वरित कार्यवाही करते हुए आगामी 15 दिसम्बर तक प्रत्येक दशा में उनका निस्तारण करें। यादव ने बताया कि जनपद का सीडी रेश्यो 79 प्रतिशत है। इसलिए इससे कम जिन बैंक शाखाओं का सीडी रेश्यो हो वह इसे बढ़ाने के लिए अपने स्तर पर विशेष प्रयास करें। जिन बैंकों के जिला को-आर्डिनेटर अभी तक नहीं बनाए गए हैं उनमें तत्काल जिला को-आर्डिनेटर बनाकर लीड बैंक अधिकारी कार्यालय में सूचना उपलब्ध कराया जाए। बैठक में परियोजना निदेशक डीआरडीए एसपी सिंह, लीड बैंक अधिकारी, जिला विकास अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी कृष्णा प्रसाद, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी संजय कुमार और बैंक अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.