फलाइंग दस्ते ने इंिडका कार को जब्द किया।

96

ग्रेटर नोएडा।यमुना एक्सप्रसवे पर जेवर टोल प्लाजा के पास फलाइंग दस्ते ने बिना अनुमति के आप के सर्मथन मे चुनाव सामग्री ले जाने के आरोप मे इडिकंा कार क्स्5ब्ळ 0239 को पकडा है
फलाइंग दस्ते के उपनिरीक्षक राकेष कुमार ने बताया कि कार से आप के 317 पम्पलेट ओर 525 टोपी व 04 गले मे डालने वाले पटटे बरामद किये गये जिसके खिलाफ जेवर कोतवाली मे मुकदमा दर्ज कर दिया है।
प््रोक्षक ने डेरा डाला
ग्रेटर नोएडा। जनपद के प्रेक्षक अधिकारी अरुण कुमार आईएएस ने लोक सभा के चुनाव पर नजर रखने के लिये नोएडा के गेस्ट हाउस मे अपना डेरा डाल लिया है जिससे उम्मीदवारो के चुनाव प्रचार पर नजर रखी जा सके ।
रोड ट्रैकर से रूक सकती है रांग साइट की समस्या
ग्रेटर न¨एडा ।आए दिन हो रही सड़क दुर्घटनाओं में रांग साइड की वजहें अधिक सुनने को मिलती है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में रांग साइड चलने वालों की तादात हजारों में है। जिनके खिलाफ अभियान भी चलाया जाता है, मगर कोई फायदा नहीं होता है। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में रोजाना एक दो सड़क हादसे होते हैं। इन सड़क हादसों में कई रांग राइड चलने के कारण होती हैं। ग्रेटर नोएडा में चैराहे नहीं है, बल्कि उसके स्थान पर गोल चक्कर बनाए गए हैं। गोल चक्करों से सर्विस रोड पर आने के लिए लोग अक्सर रांग साइड का इस्तेमाल करते हैं। रांग साइड गोल चक्कर से 500 से 700 मीटर तक चलना होता है। जबकि राइड साइड से चलने वाले वाहन चालक तेज गति आते हैं। ऐसे में सड़क हादसे हो जाते हैं। रांग साइड पर वाहन चालकों को चालान भी किया जाता है, मगर मामूली जुर्माना देकर वह छूट जाते हैं प्राधिकरण के ओएसडी योगेन्द्र यादव का कहना है कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण रांग साइड को लेकर काफी गंभीर है। रोड ट्रैकर का इस्तेमाल करने से वाहन चालकों की मुश्किलें बढ़ जाएंगी। दरअसल, इसे चैराहे या गोल चक्कर पर सड़क में ही फिट कर दिया जाता है। इसमे नुकीले कांटे निकले होते हैं, जो रांग राइड आ रहे वाहन के टायर में प्रवेश कर जाते हैं और टायर फट जाता है। जबकि राइड साइड आने पर यह नुकीले कांटे नीचे दब जाते हैं और वाहन को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है।

Comments are closed.