गौतमबुद्धनगर में 24 घंटे के भीतर 10 लोगों ने की आत्महत्या, 6 महीने के आंकड़े कर देंगे हैरान

ABHISHEK SHARMA

0 71

राजधानी दिल्ली से सटे जनपद गौतम बुद्ध नगर में आत्महत्याओं का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बुधवार को एक दिन में सबसे ज्यादा आत्महत्या के मामले सामने आए। जिले में पिछले 24 घंटों के दौरान 10 लोगों ने मौत को गले लगाया है। इनमें से ज्यादातर लोगों ने आर्थिक तंगी, कारोबार डूबने और कर्ज में दबे होने के कारण जान दी है।

कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद जिले में तेजी से आत्महत्या करने की प्रवृत्ति बढ़ी है। आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 6 महीनों के दौरान 300 से ज्यादा लोगों ने जिले में आत्महत्या की है।

पुलिस आंकड़ों के मुताबिक ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र के चरणी बिहार में रहने वाले देवेंद्र (30 वर्ष) नामक युवक ने बुधवार सुबह घर में पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।  नोएडा के एक्सप्रेस-वे थाना क्षेत्र के सेक्टर 134 में स्थित एक सोसाइटी में रहने वाली कनिका (27 वर्ष) ने मानसिक तनाव के चलते मंगलवार शाम को जहरीला पदार्थ खा लिया। गंभीर हालत में उनको एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इन लोगों ने की आत्महत्या ग्रेटर नोएडा के जारचा थाना क्षेत्र के बिसाहड़ा गांव में रहने वाले संजू (23 वर्ष) ने पत्नी से हुए कथित विवाद के चलते पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। ग्रेटर नोएडा के ही सूरजपुर थाना क्षेत्र के डेल्टा-1 में रहने वाले अनुभव कृष्णमूर्ति ने भी कथित तौर पर मानसिक तनाव के चलते खुदकुशी कर ली। उनका शव मंगलवार देर रात घर में मिला। मृतक का कथित तौर पर पत्नी से विवाद चल रहा था।

ग्रेटर नोएडा में दादरी थाना क्षेत्र के एक सेक्टर में रहने वाले गंगा सिंह (53 वर्ष) ने मंगलवार देर रात घर में पंखे से फंदा लगाकर अलहत्या कर ली। नोएडा में सेक्टर-58 क्षेत्र में रहने वाले औरष ने भी बीती रात पंखे से फंदा लगा कर आत्महत्या कर ली। नोएडा सेक्टर-24 क्षेत्र के गिझौड़ गांव में रहने वाली 48 वर्षीय महिला ने अपने मकान की तीसरी मंजिल से कूदकर मंगलवार को आत्महत्या कर ली।

साथ ही ग्रेटर नोएडा वेस्ट के बिसरख थाना क्षेत्र के महागुण माइवुड्स सोसाइटी में रहने वाले कुणाल मलिक (27) ने पंखे से फंदा लगाकर आत्महत्या की कोशिश की। परिजनों ने उन्हें नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया था जहां पर मंगलवार देर रात उनकी मौत हो गई। दादरी थाना क्षेत्र में काजल तुरी नामक व्यक्ति ने ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली।

कोरोना वायस के संक्रमण से गौतमबुद्ध नगर जिले में अब तक 58 लोगों की मौत हुई है। दूसरी ओर 1 अप्रैल 2020 से अब तक जिले में 182 लोगों ने आत्महत्या की है। जून के महीने में जब पूरी तरह तालाबंदी लागू थी, सबसे ज्यादा 34 लोगों ने आत्महत्या की थी। अप्रैल से लेकर सितंबर तक हर महीने 30 से ज्यादा लोगों ने सुसाइड किया है। अप्रैल महीने में 24 लोगों ने मौत को गले लगाया। मई में 31 लोगों ने आत्महत्या की थी।

जून में सबसे ज्यादा 34 केस सामने आए।  जुलाई में 30 लोगों ने सुसाइड किया।  अगस्त में 31 और सितंबर में 32 आत्महत्या के केस दर्ज किए गए। इस तरह गौतमबुद्ध नगर में अप्रैल से 30 सितंबर 2020 तक 182 लोगों ने मौत को चुना। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण हुई मौतों के मुकाबले यह संख्या 3 गुने से भी ज्यादा हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.