विकास दुबे के दो साथी एनकाउंटर में ढेर, फिल्मी कहानी की तरह हुआ एनकाउंटर

ABHISHEK SHARMA

0 61

विकास दुबे के दो साथी आज एनकाउंटर में ढेर हो गए. प्रभात मिश्रा पुलिस हिरासत से भागने की कोशिश कर रहा था, जिसके बाद एनकाउंटर में उसे ढेर कर दिया गया। प्रभात मिश्रा को बुधवार को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा विकास दुबे गैंग का एक और मोस्ट वांटेड क्रिमिनल बउवा दुबे भी इटावा में ढेर हो गया।

कानपुर पुलिस की टीम गुरुवार सुबह फरीदाबाद में गिरफ्तार किए गए विकास दुबे के साथी प्रभात मिश्रा को ट्रांजिट रिमांड पर लेकर कानपुर आ रही थी। एसटीफ की टीम एस्कॉर्ट कर रही थी।

उसी वक्त पनकी थाना क्षेत्र में गाड़ी पंक्चर होने पर अभियुक्त प्रभात पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास करने लगा। उसने पुलिस पर अंधाधुंध फायर भी किया, जिसमें एसटीफ के दो आरक्षी गंभीर रूप से घायल हो गए।

अधिकारियों का कहना है कि प्रभात मिश्रा ने एसटीएफ के एक पुलिसवाले की रिवॉल्वर छीनकर उसके ऊपर गोली चलाई। इस दौरान दो लोगों को गोली भी लगी लेकिन उन्होंने बुलेट प्रूफ पहना था इसलिए उनकी जान बच गई।

प्रभात को सुबह साढ़े 6 बजे के आसपास फरीदाबाद से लेकर कानपुर पुलिस आ रही थी। पुलिस का कहना है कि प्रभात ने एक पुलिसकर्मी से पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। इसी दौरान पुलिस से मुठभेड़ हुई और प्रभात गोलियों का निशाना बना।

दूसरा एनकाउंटर पुलिस ने इटावा में किया है। गैंगस्टर विकास दुबे गैंग का एक और बदमाश रणवीर उर्फ बउअन दुबे पुलिस से मुठभेड़ के दौरान मारा गया। देर रात थाना सिविल लाइन क्षेत्र से स्विफ्ट डिजायर गाड़ी लूटकर भाग रहे बदमाश को पुलिस और स्वाट टीम ने घेराबन्दी कर मारा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.