गलवान घाटी के पास हिंसक झड़प में भारत के 20 जवान शहीद, चीन के 43 सैनिक मारे गए

Rohit Sharma

0 188

नई दिल्ली :– लेक पर सोमवार रात को हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए. वहीं, इस घटना में चीन को भी भारी नुकसान हुआ है।

बताया जा रहा है कि इस हिंसक झड़प में चीन के 43 सैनिक हताहत हुए हैं. इसमें से कई की मौत हुई है तो कई घायल हैं. हालांकि, चीन की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है ।

गलवान घाटी के पास हुई यह हिंसक झड़प भारत को गहरी चोट दे गई है. देश ने अपने 20 जांबाजों को खो दिया।

जम्मू और कश्मीर के उरी और पुलवामा में आतंकी हमले के बाद ये हाल के वर्षों में तीसरी सबसे बड़ी घटना है, जिसमें सैनिकों की इतनी बड़ी क्षति हुई है ।

उरी और पुलवामा में भारत को नुकसान पहुंचाने वाला दुश्मन भी चीन का दोस्त पाकिस्तान ही था. इन आतंकी हमलों के बाद भारत ने पाकिस्तान को करारी चोट पहुंचाई थी ।

18 सितंबर 2016 को उरी में हुए आतंकी हमले में भारत के 19 जवान शहीद हो गए थे. ये हमला सुबह साढ़े पांच बजे आतंकवादियों ने उरी में स्थित भारतीय सेना के ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर किया था. आतंकवादियों ने 3 मिनट में 17 हैंड ग्रेनेड फेंके. उसके बाद आतंकवादियों के साथ सेना की 6 घंटे तक मुठभेड़ चली और चारों आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया गया।

उरी हमले के ठीक 10 दिन बाद भारत ने पाक को सबक सिखाने की योजना बनाई और 150 कमांडोज की मदद से सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया. भारतीय सेना के जवान पूरी प्लानिंग के साथ 28-29 सितंबर की आधी रात पीओके में सीमा में 3 किलोमीटर अंदर घुसे और आतंकियों के ठिकानों को तहस-नहस कर डाला।

Leave A Reply

Your email address will not be published.