नोएडा-ग्रेटर नोएडा में 3 लोग मिले कोरोना संक्रमित, अब तक की सबसे वृद्ध महिला मरीज हुई डिस्चार्ज

Abhishek Sharma

0 134

यूपी के गौतम बुद्ध नगर जिले में आज (मंगलवार) कोरोना वायरस संक्रमण के 3 नए मामले सामने आने के बाद जिले में संक्रमित हुए लोगों की संख्या बढ़कर 362 हो गयी है। वहीं जिले में अब तक कोरोना से संक्रमित पांच लोगों की जान जा चुकी है। वही आज जिले में कोरोना संक्रमण मुक्त होकर मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं।

यह जानकारी देते हुए आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 26 मई को लिए गए नमूनों की मंगलवार को आई जांच रिपोर्टों में 3 लोग संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि संक्रमित लोगों को अस्पताल में भर्ती कराकर उनका इलाज कराया जा रहा है।

संक्रमित लोगों के निवास के आस-पास की जगह को सील कर दिया गया है और उनके संपर्क में आए लोगों के बारे में जानकारी जुटायी जा रही है।

आज ग्रेटर नोएडा राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान जिम्स में एक 20 वर्षीय युवक स्वास्थ्य कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। मरीज को इलाज के लिए राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान में ही भर्ती कराया गया है और उसके संपर्क में आए हुए लोगों की खोजबीन की जा रही है।

वहीं नोएडा के सेक्टर 53 स्थित गिझौड गांव में आज फिर एक नया मरीज सामने आया है यहां 33 वर्षीय पुरुष को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

वहीं नोएडा में एक अन्य केस सामने आया है। यहां 39 वर्षीय महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। महिला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

इससे पहले आज ग्रेटर नोएडा के जिम्स अस्पताल से आज 7 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। इनमें अब तक की सबसे वृद्ध मरीज 82 वर्षीय महिला और उनके 57 वर्षीय बेटे को भी डिस्चार्ज किया गया। जिम्स अस्पताल कोरोना संक्रमित लोगों को संक्रमण मुक्त बनाने के मामले में अभी तक नंबर वन है।

जिम्स अस्पताल के डॉ राहुल ने बताया कि यह महिला और उसका बेटा हापुड़ के रहने वाले हैं और स्पेशल डिमांड पर उन्हें जिम्स अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था और यहां के डॉक्टरों की अथक मेहनत और प्रयासों से दोनों को संक्रमण मुक्त किया गया है।

आपको बता दें कि अब तक जिले में 244 लोग स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज कर दिए गए हैं। फिलहाल 113 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। डॉक्टरों का दावा है कि इन लोगों को भी जल्द से जल्द संक्रमण मुक्त कर डिस्चार्ज किया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.