- Advertisement -

सौरभ भारद्वाज का आरोप, बढ़ाई हुई ट्रेड और फैक्ट्री लाइसेंस फीस को वापस लेने में देर कर रही है एमसीडी

Ten News Network

0 268

नई दिल्ली :– आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने प्रेस वार्ता करते हुए एमसीडी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित निगम ने बढ़ाई गई ट्रेड और फैक्ट्री लाइसेंस फीस को वापस लेने की जो घोषणा की थी उसे लागू ही नहीं किया है।

50 गज तक के घरों पर हाउस टैक्स नहीं लेने की घोषणा भी झूठी निकली। उन्होंने कहा कि सदन की बैठक में जब ‘आप’ ने प्रश्न उठाया तो आयुक्त ने बताया कि ट्रेड और फैक्ट्री लाइसेंस फीस अभी भी बढ़ी हुई दरों पर ली जा रही है। भाजपा की ऐसी कोई भी घोषणा को लागू नहीं किया गया है। भाजपा ने आगामी चुनाव के तहत जनता को गुमराह करने के लिए यह घोषणा की और अखबारों में छपवाया।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली नगर निगम खाप पंचायत की तरह चल रहा है। जिसके अंदर कोई कानून नहीं है, इनकी कोई विश्वशनियता नहीं है। इनका जो मन करता है यह वही कर रहे हैं और झूठी खबरें अखबार में छपवाने में माहिर हो चुके हैं। हम लोग पिछले डेढ़ साल से कह रहे हैं कि दिल्ली नगर निगम कोरोना के बावजूद भी लोगों को लूटने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहा है।

जब कोरोना महामारी के दौरान सभी सरकारें फीस और टैक्स माफ कर रही हैं, उस दौरान निगम ने उसे 20 गुना बढ़ा दिया। इन्होंने जनरल ट्रेड लाइसेंस फीस 17 से लेकर 25 गुना बढ़ा दिया। हाउस टैक्स की बात करें तो कमर्शियल और रेंटल प्रॉपर्टी टैक्स को लगभग दोगुना कर दिया।

आप विधायक ने कहा कि करीब 1 साल बाद निगम चुनाव से लगभग 6 महीने पहले अगस्त में यह खबर छपवाई कि इन्होंने बढ़ी हुई सारी फीस को वापस ले लिया है। फैक्ट्री लाइसेंस, जनरल ट्रेड लाइसेंस फीस वापस ले लिया है। हाउस टैक्स के अंदर 50 गज तक के मकानों पर हाउस टैक्स माफ कर दिया है। कई अखबारों में यह खबर छपीं है।

हमारे नॉर्थ एमसीडी के एलओपी ने कल सदन की बैठक में 10 सवाल लगाए। जिसमें पूछा कि क्या आपने फैक्ट्री, ट्रेड, लाइसेंस की फीस माफ कर दी है? जवाब आया नहीं। उन्होंने पूछा क्या आपने बढ़ाई हुई दरों को वापस ले लिया है? जवाब आया नहीं। उन्होंने पूछा क्या आपने 50 गज के घरों पर हाउस टैक्स माफ किया? जवाब आया नहीं। उन्होंने पूछा कि क्या आपने ट्रेड लाइसेंस की बढ़ी हुई फीस वापस किया? जवाब आया नहीं। यह लोग जो सारी चीजों के लिए खुद को मुबारकबाद दे रहे हैं उसका जवाब नहीं में आया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.