आप पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने चुनाव पीठासीन अधिकारियों पर लगाया आरोप , माँगा जवाब

ROHIT SHARMA/ JITENDER PAL- TEN NEWS

91

(17/05/2019) आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि चुनाव आयोग जिस प्रकार से 2019 का लोकसभा चुनाव करवा रहा है, उससे चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर कई प्रश्न उठ रहे हैं।



चुनाव आयोग पर लगातार आरोप लग रहे हैं, कि चुनाव आयोग भाजपा के इशारे पर केंद्र को फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रहा है।

सौरभ भारद्वाज ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाते हुए कहा, कि हर बूथ पर पीठासीन अधिकारियों द्वारा 12 तारीख को जो पोलिंग डायरीज़ जमा कराई गई थीं, उनमे गड़बड़ी करके बदला जा रहा है। दिल्ली में 12 तारीख को ईवीएम के द्वारा चुनाव कराया गया और जब कभी ईवीएम के द्वारा चुनाव किया जाता है, तो उससे संबंधित बहुत सारी जानकारियां लिखित रूप में चुनाव आयोग के पास पीठासीन अधिकारी द्वारा जमा कराई जाती हैं।

हर बूथ पर एक पीठासीन अधिकारी होता है, जिसकी देखरेख में पूरा चुनाव होता है। वह अपनी डायरी में यह बातें लिखता है, कि मेरे पास किन बातों के लिए विवाद आया, कितनी ऑब्जेक्शन आई, कितनी शिकायतें आई, मॉक पॉल का क्या नतीजा आया, कितनी वोट डली, क्या बीयू यूनिट नम्बर था, क्या सीयू यूनिट नम्बर था, कितनी महिलाएं थीं, कितने पुरुष थे आदि, अन्य बहुत सारी जानकारियां लिखता है। अर्थात उस पोलिंग बूथ का पूरा का पूरा पोस्टमार्टम उस डायरी में चुनाव के दिन ही शाम को पीठासीन अधिकारी द्वारा जमा कराया जाता है।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हमारे पास विश्वस्त सूचना है कि चुनाव के 3 दिन बाद अर्थात 16 मई को लगभग 200 से 250 पीठासीन अधिकारियों को चुनाव आयोग ने बुलाकर उन सभी अधिकारियों से नए सिरे से एक पोलिंग डायरी भरवाई गई और उन पर उन अधिकारियों के हस्ताक्षर करवाए गए। मिली जानकारी के अनुसार कल अम्बेडकर नगर क्षेत्र के सभी पीठासीन अधिकारियों को बुलाया गया था, और उन सभी अधिकारियों से भी दोबारा से यह पोलिंग डायरी भरवा कर हस्ताक्षर करवाए गए हैं। आज बदरपुर विधानसभा 53 नंबर से पीठासीन अधिकारियों को बुलाकर उनसे भी नई डायरियां भरवा कर हस्ताक्षर करवाए गए हैं।

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जब हमारे लोगों ने चुनाव आयोग के अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने कहा, कि ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है, जिसकी वजह से संदेह और बढ़ गया। इसका मतलब यह बनता है, कि जो कुछ भी गतिविधियां हो रही है, वह गैर कानूनी तरीके से की जा रही है। गैर कानूनी तरीके से इन पीठासीन अधिकारियों को बुलाकर दोबारा से पोलिंग डायरीयों में गड़बड़ी करके नई डायरियां तैयार करवाई जा रही हैं।

सौरभ भारद्वाज ने बताया कि इस संबंध में हमने रिटर्निंग ऑफिसर एमबी रोड साकेत को, उनके इलेक्शन एजेंट प्रभाकर गौर जी के माध्यम से एक चिट्ठी दी है। चुनाव आयोग से हमारी मांग है, कि चुनाव आयोग इस घटना पर जवाब दे। उन्होंने कहा कि इस संबंध में कल हम चुनाव आयोग से मिलने जा रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.