पीसी गुप्ता प्रकरण में 21 लोगों के खिलाफ गिरफ्तारी के आदेश , प्राधिकरण के अधिकारियों में मची हलचल

Abhishek Sharma

125

Greater Noida (07/01/19) : यमुना प्राधिकरण में 126 करोड रुपए के पीसी गुप्ता प्रकरण में 21 और अभियुक्तों के खिलाफ गिरफ्तारी के वारंट जारी हुए है। इनमें से एक सरकारी कर्मचारी व शेष 20 गैर सरकारी लोग हैं। अभी तक इस प्रकरण में कुल 28 लोगों के एनबीडब्ल्यू जारी हुए हैं। जिनमें से 8 सरकारी 20 गैर सरकारी हैं। अब शीघ्र ही इनकी कुर्की ली जाएगी। अभी तक इस प्रकरण में कुल 5 लोगों की गिरफ्तारी भी की जा चुकी है।

यमुना अथॉरिटी में हुए 126 करोड़ के जमीन खरीद घोटाले के मामले में पुलिस अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। इस मामले में पुलिस ने 3 जून को यमुना प्राधिकरण की ओर से 126 करोड़ के जमीन खरीद घोटाले में रिटायर्ड आईएएस पीसी गुप्ता समेत कुल 21 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। सीओ-1 ग्रेटर नोएडा निशांक शर्मा ने बताया जांच में पाया गया है कि जिस जमीन को लेकर घोटाला हुआ है। उसमें से कुछ हिस्से की रजिस्ट्री सत्येंद्र के नाम पर भी कराई गई थी।



पुलिस पूछताछ में पता चला है कि जमीन खरीदने के लिए यमुना प्राधिकरण ने लेनदेन सूरजपुर स्थित महामेधा बैंक से किया था। पता चल रहा है कि इस बैंक खाते फर्जी नाम-पते पर साठगांठ के आधार पर खोले गए थे। अब, यह बैंक बंद हो चुका है। इससे पुलिस अब पूछताछ के लिए महामेधा बैंक के मालिक को ढूंढ रही है।

इन लोगों के नाम पर जारी हुए गिरफ्तारी वारंट

सीईओ पी. सी. गुप्ता, तहसीलदार सुरेश चंद शर्मा, संजीव कुमार, संजीव कुमार-2, सतेंद्र चौहान, विवेक कुमार जैन, सतेंद्र चौहन-2, सुरेंद्र सिंह, मदनपाल, अजीत कुमार, जुगेश कुमार, धीरेंद्र सिंह चौहान, निर्दोष चौधरी, गौरव कुमार, मनोज कुमार, अनिल कुमार, स्वातिदीप शर्मा, स्वदेश गुप्ता, सोनाली, प्रमोद कुमार यादव व निधि चतुर्वेदी समेत अन्य अधिकारी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.