प्रदूषण को लेकर गोपाल राय का बड़ा ऐलान, ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान 30 नवंबर तक बढ़ाया गया

ROHIT SHARMA

0 97

नई दिल्ली :– दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली में प्रदूषण की स्थिति को देखते हुए 16 नवंबर से रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान का दूसरा चरण शुरू होगा, जो 30 नवंबर तक चलेगा। पहले चरण की तरह अभियान के दूसरे चरण में लोगों को जागरूक करने के लिए 11 जिलों के 100 अलग-अलग चौराहे पर ढाई हजार माॅर्शल नियुक्त किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि दिल्ली के 2 हजार एकड़ क्षेत्र में बाॅयो डीकंपोजर के छिड़काव के असर को जानने के लिए गठित कमेटी आज अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

जिसे कल मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सौंपेंगे । दिल्ली के हिस्से का प्रदूषण कम करने के लिए गोपाल राय ने दिल्ली के युवाओं, आरडब्ल्यूए, मोहल्ले के लोगों से अपील करते हुए कहा कि कहीं पर यदि कूड़े को जलाया जा रहा है, तो उसे तुरंत बुझा दें। दीपावली पर सभी लोग मिलकर के दीया जलाएं और पटाखे न जलाएं।  विपक्ष के  लोग युवाओं को पटाखा जलाने के लिए न उकसाएं।

 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली सचिवालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के अंदर प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए 5 अक्टूबर से ‘युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान शुरू किया । दिल्ली के अंदर अलग-अलग प्रदूषण के जो स्रोतों से उनको रोकने के लिए सरकार की तरफ से लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं और जमीन पर कार्रवाई की जा रही है। वाहन प्रदूषण को कम करने के लिए 21 अक्टूबर से 15 नवंबर तक ‘रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ’ अभियान जारी है।

 

अभियान के तहत दिल्ली के लोगों की ओर से रेड लाइट पर गाड़ी बंद करके वाहन प्रदूषण को कम करने में योगदान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली के कार, बाइक, टैक्सी चालक समेत उन तमाम लोगों को बधाई देना चाहता हूं, जिन लोगों ने अपनी जिम्मेदारी समझ कर दिल्ली के अंदर से पैदा होने वाले वाहन प्रदूषण को कम करने में अपना सकारात्मक सहयोग दिया है।

 

गोपाल राय ने कहा कि रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ अभियान 15 नवंबर तक चलना है, लेकिन अभी दिल्ली में प्रदूषण की जो स्थिति बनी हुई है, उसको देखते हुए सरकार ने रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ के दूसरे चरण का अभियान 16 नवंबर से 30 नवंबर तक चलाने का निर्णय लिया है। यानी 16 नवंबर से रेड लाइट ऑन, गाड़ी ऑफ फेस दो शुरू करेंगे, जो 30 नवंबर तक दिल्ली के अंदर जारी रहेगा। अभियान के दूसरे चरण में भी पहले की तरह जमीन पर लोगों को जागरूक करने के लिए ढाई हजार मार्शल नियुक्त किए जाएंगे।

 

ढ़ाई हजार मार्शल पहले फेज की तरह 11 जिलों के जो 100 अलग-अलग चैराहे पर नियुक्त किए जाएंगे। मुख्य 10 चैराहों पर 20-20 पर्यावरण मार्शल नियुक्त होंगे। एसडीएम, एसीपी, ट्रैफिक पुलिस का संयुक्त निगरानी का तंत्र दूसरे चरण के अंदर भी जारी रहेगा।

 

 

पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि इसके साथ साथ दिल्ली के अंदर एंटी डस्ट पॉल्यूशन को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। अभी भी कुछ-कुछ जगहों पर ग्रीन दिल्ली एप पर शिकायत आ रही है कि निर्माण और ध्वस्तीकरण के दौरान थोड़ी बहुत लापरवाही बरती जा रही है। जिस पर पीडब्ल्यूडी, डीडीए, एमसीडी समेत अलग-अलग विभागों के माध्यम से कार्यवाही की जा रही है, लेकिन मैं दिल्ली के लोगों से अपील करना चाहता हूं, यह प्रदूषण के खिलाफ जो लड़ाई है, उसे सरकार केवल अकेले अपने दम पर लड़कर नहीं जीत सकती। इसके लिए हम सबको अपने हिस्से का छोटा-छोटा योगदान देना होगा। कई लोगों से हमने बात की, तो उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी दिल्ली में हमने थोड़ा सा रोड़ी रखा है, इससे क्या होने वाला है। लेकिन यह छोटे-छोटे योगदान मिलाकर के बड़ा असर डालते हैं। इसलिए मैं दिल्ली के दो करोंड़ लोगों से निवेदन करना चाहता हूं कि दिल्ली में अपने हिस्से का जो धूल प्रदूषण है, उसे नियंत्रित करने के लिए आप सतर्कता बरतें और धूल प्रदूषण को रोकने में सहयोग करें।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.