सुषमा स्वराज के निधन से दुख में डूबी भाजपा, मोदी , राष्ट्रपति समेत दिग्गज नेताओं ने जताया शोक

Rohit Sharma / Rahul Kumar Jha

0 169

पूर्व विदेश मंत्री एवं बीजेपी की वरिष्ठ नेता सुषमा स्वराज का मंगलवार देर रात निधन हो गया। वह 67 वर्ष की थीं। स्वराज को रात करीब साढ़े नौ बजे एम्स अस्पताल लाया गया और उन्हें सीधे आपातकालीन वॉर्ड में ले जाया गया। एम्स के चिकित्सकों ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर मंगलवार को गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया।

 

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘भारतीय राजनीति में एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया। भारत एक असाधारण नेता के निधन से शोकसंतप्त है, जिन्होंने जनसेवा और निर्धनों के जीवन में सुधार के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। सुषमा जी अपने आप में अलग थीं और करोड़ों लोगों के लिए प्रेरणास्रोत थीं।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘सुषमा स्वराज जी के निधन के बारे में सुनकर स्तब्ध हूँ। वह एक अद्भुत नेता थीं जिनकी पार्टी लाइन से इतर मित्रता थी।’ उन्होंने कहा, ‘दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। ऊॅं शांति।’

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि वह बेहद मूल्यवान सहयोगी के असामयिक निधन से गहरे सदमे और दुख में हैं।

 

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा,”सुषमा स्वराज के निधन के बारे में सुनकर बेहद स्तब्ध हूं। इस खबर को स्वीकार करना मुश्किल है, पूरा देश शोकाकुल है और उससे भी ज्यादा विदेश मंत्रालय।

कांग्रेस पार्टी ने भी स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त किया है। पार्टी ने कहा, ‘सुषमा स्वराज के असामयिक निधन के बारे में सुनकर हम दुखी हैं। उनके परिवार और स्नेही जनों के प्रति हमारी संवेदनाएं हैं।’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वराज के निधन पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने ट्वीट किया,”सुषमा स्वराज के निधन के बारे में जानकर बेहद स्तब्ध हूं। देश ने एक प्यारा नेता खो दिया है जो सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा का प्रतीक था। दूसरों की मदद के लिए वह हमेशा तैयार रहती थीं। भारत की जनता की सेवा के लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि स्वराज ने राष्ट्रीय राजनीति में एक अमिट छाप छोड़ी और उनका निधन एक बहुत बड़ा नुकसान है।

वहीं, भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि स्वराज एक आदर्श व्यक्तित्व का उदाहरण थीं, चाहे विपक्ष के नेता तौर पर या फिर विदेश मंत्री के रूप में। उन्होंने कहा कि देश उनके शानदार व्यक्तित्व को हमेशा याद रखेगा और उनका निधन देश तथा भाजपा के लिए एक अपूरणीय क्षति है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी स्वराज के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। स्वराज के परिवार में उनके पति स्वराज कौशल और बेटी बांसुरी हैं।

वहीं, भाजपा के दिग्गज नेता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ‘हमारी बड़ी बहन नहीं रहीं। 25-30 सालों का संबंध था, छोटे भाई के रूप में सिखाया, पार्टी में, संगठन में, संसद में, सरकार में। पर्सों उनका फोन आया था, तीन तलाक बिल पर बह खुश थीं।

वहीं, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि “सुषमा जी का जाना, देश का नुकसान है, पार्टी का नुकसान है और व्यक्तिगत रूप से मेरा भी बहुत बड़ा नुकसान है। सुषमा जी भारतीय राजनीति में ऐसी एक महिला थीं कि उन्होंने चाल चलन और व्यव्हार और चरित्र से एक आदर्श भारतीय नारी की प्रतिमा भारतीय राजनीति में दी। बड़ी बहन मेंरी चली गईं। उन्होंने मुझे प्रेम दिया।”

वहीं, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि ‘ये नुकसान भरा नहीं जा सकता।’

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.