ज्यूरिख कंपनी द्वारा बनाए गए नोएडा एयरपोर्ट के मास्टर प्लान में किए जाएंगे बदलाव 

ABHISHEK SHARMA

0 67

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनाने के लिए विकास कर्ता कंपनी ज्यूरिख की तरफ से सौंपे गए मास्टर प्लान में बदलाव किए जाएंगे। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने रनवे, टैक्सी-वे में बदलाव के सुझाव दिए हैं। नोएडा एयरपोर्ट का ज्यूरिख ने मास्टर प्लान तैयार कराया था, एयरपोर्ट में कहां पर क्या होगा, इसका पूरा ब्योरा है।

रनवे कहां और कितना लंबा होगा। टैक्सी वे कैसा होगा, यात्री टर्मिनल में हरित क्षेत्र अधिक होगा। बिल्डिंग की बनावट इस तरह की होगी, दिन होने पर ज्यादातर जगहों पर सूर्य की रोशनी पहुंचे, ताकि अतिरिक्त रोशनी की जरूरत न पड़े। एयरक्राफ्ट की पार्किंग किस तरफ होगी, यह सब ब्योरा मास्टर प्लान में दिया गया है।

इस पर अनुमति के लिए नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के पास भेजा गया था। इसके अलावा एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन को भी भेजा गया था, जिसमें से नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने अपने सुझाव भेज दिए हैं।

महानिदेशालय ने रनवे, टैक्सी-वे पर सुझाव दिए हैं। नियाल ने देरी न करते हुए इसे ज्यूरिख को भेजा है, ताकि इस पर शीघ्र अमल हो सके। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन से सुझाव का इंतजार है।

उसके बाद फाइनल मास्टर प्लान तैयार होगा। उसके आधार पर एयरपोर्ट का निर्माण शुरू होगा। निर्माण अप्रैल में ही शुरू होने के आसार हैं। 29,500 करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट के 2023 के अंत में या फिर 2024 के शुरुआत में पूरा होने की उम्मीद है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.