ग्रेटर नोएडा : चीनी नागरिक ने कोरोना वायरस की आशंका में खुद को किया कमरे में बंद, जांच की तो आई यह रिपोर्ट

ABHISHEK SHARMA

0 155

चीन में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस ने अब भारत में अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है। बुधवार को इससे संक्रमित लोगों की संख्या अचानक बढ़कर 29 हो गई। संक्रमित लोगों में 16 इटली से आए पर्यटक हैं।

इसी बीच दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा की एक सोसाइटी में चीनी नागरिक ने कोरोना वायरस की चपेट में आने की आशंका पर खुद को फ्लैट में कैद कर लिया। मामला ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 थाना क्षेत्र का है। बताया गया है कि चीनी नागरिक ओप्पो कंपनी का अधिकारी है।

वह कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज था। मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनुराग भार्गव का कहना है कि चीनी कंपनी के अधिकारी का कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आया है।” फिलहाल उन्हे अस्पताल में एडमिट किया गया है।

स्थानीय लोगों ने चीनी अधिकारी की जानकारी स्वास्थ्य विभाग और पुलिस को दी। कई घंटे बाद भी स्वास्थ्य विभाग की टीम वहां नहीं पहुंची। जैसे ही स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची आस-पास के लोगों ने भी भीड़ कर दिया था। सोसाइटी में इस खबर से हड़कंप मच गया था। रात भर चीनी नागरिक के फ्लैट का दरवाजा खुलवाने में पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की टीम जुटी रही।

सिक्योरिटी ऑफिसर,सत्येंद्र ने बताया कि यहां कुछ चीनी रहते हैं, पुलिस को फोन गया कि उनमें किसी को कोरोना है। वो सामने नहीं आ रहा है, डरा हुआ है। कह रहा है कि मैं किसी से बात नहीं करूंगा। जिसके बाद पुलिस और डॉक्टर मौके पर पहुंचे।

बता दें कि गौतम बुद्ध नगर में 15 जनवरी तक विदेश यात्रा करने वाले कम से कम 373 लोगों को निगरानी में रखा गया है। नोएडा में कोरोना वायरस के संदेह में तीन बच्चों समेत जिन छह लोगों के नमूने लिए गए थे, उनकी जांच निगेटिव पाई गई है। हालांकि सभी छह लोगों को अगले 14 दिन के लिए अपने-अपने घर में अलग थलग रहने को कहा गया है।

अधिकारियों ने बताया कि अगर उनमें कोविड-19 के लक्षण नजर आते हैं तो उनके नमूनों की फिर से जांच की जाएगी।  कोरोना वायरस  के फैलाव की आशंका के मद्देनजर एहतियाती तौर पर भारत में अलर्ट जारी किया गया है। वायरसे क खतरे को देखते हुए भारत ने 4 देशों ईरान, इटली, दक्षिण कोरिया और जापान के नागरिकों के वीजा के तत्काल प्रभाव से कैंसल कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.