गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में इस वर्ष नही बढेंगे प्रॉपर्टी के सर्किल रेट, दोनों डीएम ने लिया फैसला

ABHISHEK SHARMA

0 83

 

कोरोना महामारी और रियल एस्टेट में मंदी के मद्देनजर गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद में इस वर्ष प्रॉपर्टी के सर्किल रेट नहीं बढ़ाए जाएंगे। संपत्ति पुनरीक्षण मूल्यांकन समिति की सिफारिश पर दोनों जिलों के जिलाधिकारी ने यह फैसला लिया है।

हालांकि इससे पहले नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण समेत उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण और गाजियाबाद विकास प्राधिकरण जमीन की आवंटन दरें नहीं बढ़ाने का फैसला ले चुके हैं।

गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि जनपद में 30 दिसंबर तक जमीन के सर्किल रेट नहीं बढ़ाए जाएंगे। जिले की प्रॉपर्टी के पुनरीक्षण मूल्यांकन के लिए 30 जुलाई को रजिस्ट्रार और उप जिलाधिकारियों की संपत्ति पुनरीक्षण मूल्यांकन समिति का गठन किया गया था।

समिति ने निर्णय लिया है कि फिलहाल बाजार दर और सर्किल दरों में कोई फर्क नजर नहीं आता है। जिसके चलते अभी सर्वे करके यह जानकारी हासिल करना संभव नहीं है। लिहाजा, इस वर्ष 31 दिसंबर तक जिले में जमीन के सर्किल रेट नहीं बढ़ाए जाएंगे।

वहीं गाजियाबाद के जिलाधिकारी डॉ अजय शंकर पांडे ने भी सर्किल रेट में वृद्धि नहीं करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण आर्थिक गतिविधियां धीमी पड़ी हुई हैं। इसके चलते संपत्तियों की मांग बहुत अधिक नहीं है। जिसके चलते सर्किल रेट और रजिस्ट्रेशन रेट में कोई फर्क नजर नहीं आता। लिहाजा, इस वक्त प्रॉपर्टी की कीमतों में वृद्धि करना उचित नहीं होगा। अग्रिम आदेशों तक प्रचलित सर्किल दरें ही सभी श्रेणियों में लागू रहेंगी।

गुरुवार को गाजियाबाद विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक हुई है। जिसमें प्राधिकरण ने भी 31 मार्च 2021 तक अपनी प्रॉपर्टी की आवंटन दरें नहीं बढ़ाने का फैसला लिया है। उधर, गौतमबुद्ध नगर की तीनों विकास प्राधिकरणों ने पहले ही साफ कर दिया था कि आवंटन दरों में कोई इजाफा नहीं किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण भी इस साल अपनी आवंटन दरें नहीं बढ़ाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.