दिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने बनाई नई स्ट्रैटजी, अब कोरोना टेस्टिंग में होगी बढ़ोतरी

0 81

नई दिल्ली :– दिल्ली में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य विभाग के महासचिव की ओर से राजधानी में कोविड -19 की टेस्टिंग को लेकर नई स्ट्रैटजी जारी की गई है। अब सभी लक्षण वाले लोग (ILI symptoms) जो किसी पॉजिटिव केस के संपर्क में आये हों, उनकी भी टेस्टिंग होगी।

1. स्वास्थ्य विभाग के महासचिव (डीजीएचएस) की ओर से जारी के आदेश के मुताबिक, COVID-19 की टेस्टिंग के लिए स्ट्रैटजी में बदलाव किया गया है और अब नई रणनीति के तहत सभी लक्षण वाले लोग (Influenza like illness symptoms, ILI) जिनके पिछले दिनों में विदेश यात्रा की हिस्ट्री रही हो।

2. नई रणनीति के तहत सभी लक्षण वाले लोग (ILI symptoms) जो किसी पॉजिटिव केस के संपर्क में आये हों।

3. सभी लक्षण वाले (ILI symptoms) हेल्थकेयर वर्कर/फ्रंटलाइन वर्कर जो कोरोना के कंटेनमेंट और अल्पीकरण में कार्यरत हों।

4. SARI (Severe actue respiratory infection) के सभी मरीज।

5. कन्फर्म पॉजिटिव के सभी डायरेक्ट और हाई रिस्कॉर्नैक्ट जैसे, डायबिटिज, हाइपरटेंशन कैंसर से ग्रसित मरीज और सीनियर सिटिजन, इनकी टेस्टिंग 2 कन्फर्म केस के संपर्क में आने वाले 5/10 दिन के बीच 1 बार होगा।

6. सभी लक्षण वाले लोग (ILI symptoms) जो हॉटस्पॉट और कंटेनमेंट जोन में हैं ।

7. हॉस्पिटल में भर्ती ऐसे सभी मरीज जिनमें ILI symptoms विकसित हुए हों ।

8. प्रवासी और वापस लौटने वाले लोगों में सभी ILI symptoms वाले लोग, बीमार होने के 7 दिन के अंदर।

9. डिलिवरी केस सहित किसी भी इमरजेंसी प्रक्रिया टेस्ट की कमी के कारण टाला नहीं जा सकता, हालांकि अगर ऊपर दिए गए 8 पॉइंट्स में से कोई भी स्थिति हो तो टेस्टिंग के लिए नमूने भी साथ में ही भेज दिए जाएंगे. ये सभी श्रेणियां रियल टाइम आरटी-पीसीआर टेस्ट में किए जाएंगे।

इस बीच, राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 22,132 हो गई है. पिछले 24 घंटों में 1,298 नए मामले सामने आए, जबकि इस दौरान 11 लोगों की मौत हो गई. इसके अलावा डेथ कमिटी के आधार पर 22 पुराने मौत के मामले भी हेल्थ बुलेटिन में दर्ज किए गए हैं. इससे दिल्ली में अब कोरोना से मरने वालों की संख्या 556 हो गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.