अन्ना हजारे के समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने परीचौक पर निकाला कैंडल मार्च

Abhishek Sharma

153

Greater Noida (04/02/19) : देश में लोकपाल एवं प्रदेश में लोकायुक्त कानून को सरकार अमल में नहीं ला पा रही है, जिसको लेकर देश के वरिष्ठ समाजसेवी अन्ना हजारे 30 जनवरी 2019 से अपने गाँव रालेगण सिद्धि महाराष्ट्र में अनशन कर रहे है। जिसके समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया संगठन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में आंदोलन कर रहा है। अन्ना हजारे के आमरण अनशन के समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने ग्रेटर नोएडा के परीचौक पर इकट्ठे होकर नारेबाजी की एवं कैंडल मार्च निकाला। कैंडल मार्च में महिलाएं एवं लड़कियां भी अन्ना का समर्थन करते हुए दिखाई पड़ी। पिछले दिनों  भी  करप्शन फ्री इंडिया संगठन ने अन्ना के समर्थन में सूरजपुर स्थित कलेक्ट्रेट पर धरने पर बैठे थे।

करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक प्रवीण भारतीय ने बताया कि आज अन्ना हजारे के आमरण अनशन को समर्थन देने के लिए परीचौक पर एकजुट हुए हैं। देश में बढ़ते भ्रष्टाचार पर रोक लगे, इसलिए लोकपाल, लोकायुक्त कानून 17 दिसंबर 2013 को राजयसभा में और 18 दिसंबर 2013 को लोकसभा में पारित हो गया था। जिसपर 1 जनवरी 2014 को राष्ट्रपति के हस्ताक्षर हुए और उसी उसी साल 16 जनवरी को गैजेट भी निकाला गया। संसद में बने कानून पर अमल करना सरकार की जिम्मेदारी है, कानून के आधार पर देश चलता है।



उन्होंने कहा कि लोकपाल, लोकायुक्त कानून बनने के बाद 26 मई 2014 को भाजपा की सरकार सत्ता में आई। सत्ता मे आने पर आने के बाद बीजेपी सरकार को कानून पर अमल करना था लेकिन इस सरकार को सत्ता में आए करीब 5 साल पूरे होने वाले हैं। अभी तक कानून को अमल में नहीं लाया गया है। इसलिए हमारे देश की सर्वोच्च न्यायालय जो की संवैधानिक संस्था है उसने सरकार को मामले में कई बार फटकार भी लगाईं है। जब तक देश में लोकायुक्त, लोकपाल कानून लागू नहीं किया जाता तब तक अन्ना हजारे के समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया संगठन भी आमरण अनशन पर रहेगी।
उन्होंने कहा कि  पिछले 6 दिन से अन्ना हजारे भूख हडताल पर बैठे हुए हैं। अब तक सरकार के किसी नेता ने जाकर उनसे मिलने की कोशिश नहीं की गई है। अन्ना का यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक उनकी मांगे नहीं मान ली जाएँगी। अन्ना के समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ता भी नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत उत्तर प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर आंदोलन और धरना प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि 6 फरवरी तक सरकार ने अन्ना की मांगो पर कोई रूचि नहीं दिखाई लोकपाल, लोकायुक्त को लागू नहीं किया गया तो करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ता पूरे उत्तर प्रदेश में भूख हड़ताल और जेल भरो आंदोलन शुरू करेंगे।
Loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.