ग्रेटर नोएडा :  करोड़ों रूपये खर्च करने के बावजूद नहीं हो पाया अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच , लगा करारा झटका 

ABHISHEK SHARMA

0 120

Greater Noida (30/10/19) : ग्रेटर नोएडा यूँ तो उत्तर प्रदेश का “शो विंडो” कहलाता है , लेकिन यहाँ क्रिकेट स्टेडियम में सुविधाओं का अभाव है। दरअसल, अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के प्रस्ताव पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सुविधा मुहैया नहीं कर सका ,  मुख्य रूप से प्राधिकरण को दर्शकों के बैठने की क्षमता बढ़ानी थी।

सुविधाओं के अभाव में अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज के बीच होने वाली टी-20, एक दिवसीय व टेस्ट मैचों की सीरीज अब लखनऊ में आयोजित होगी। आपको बता दें कि दिसंबर 2015 में अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ग्रेटर नोएडा के शहीद विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स के क्रिकेट स्टेडियम को अपना होम ग्राउंड बनाया था।

दिसंबर 2018 तक स्टेडियम अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का होम ग्राउंड रहा। उस समय अफगानिस्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) पैनल में एसोसिएट देश था, लेकिन अब अफगानिस्तान क्रिकेट टीम आईसीसी की स्थायी सदस्य है। उनको उसी स्तर के मानकों को पूरा करने वाले स्टेडियम की तलाश है।

इन्हीं मानकों के साथ करीब पांच माह पहले अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को होम ग्राउंड बनाने का एक प्रस्ताव भेजा था। प्रस्ताव में एसीबी को स्टेडियम में पांच से 10 हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता चाहिए थी । बाउंड्री के पास लगी दर्शकों को रोकने की ग्रील की ऊंचाई ज्यादा चाहिए। वीवीआईपी दर्शकों को मिलने वाली सुविधा और बेहतर होनी चाहिए। खिलाड़ियों और टीम मैनेजमेंट के अलावा अन्य मैच ऑफिशियल के अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने की मांग की थी।

मानक पूरा होने पर एसीबी शहर में स्टेडियम को फिर से अपना होम ग्राउंड बनाता। वेस्टइंडीज के साथ होने वाली सीरीज के यहां होने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। देहरादून से हटकर अब यह सीरीज लखनऊ में होगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.