दिल्ली में निर्भया जैसी हैवानियत मामले में आरोपी को दिलवाएंगे मौत की सजा , टेन न्यूज़ नेटवर्क पर बोली स्वाति मालीवाल

ROHIT SHARMA

0 99

नई दिल्ली :– राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के पश्चिम विहार इलाके में एक 12 साल की बच्ची के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया गया. इस मामले में पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है।

बता दें कि पश्चिम विहार में घटी घटना में बच्ची के साथ न सिर्फ बलात्कार किया गया बल्कि उसे जान से मारने की कोशिश भी की गई. पुलिस ने कहा कि बच्ची के चेहरे और सिर पर किसी नुकीली चीज से मारा गया था. मंगलवार शाम उसके पड़ोसियों ने उसके घर में बच्ची को खून से लथपथ पाया. इसके बाद उसके इलाज के लिए एम्स में भर्ती कराया गया ।

दिल्ली की घटना के बाद मुख्यमंत्री अरविंरद केजरीवाल ने सख्त कार्रवाई का वादा किया है। उन्होंने कहा कि 12 साल की बच्ची के साथ हैवानियत भरी वारदात की जानकारी ने आत्मा को अंदर तक झकझोर दिया है. ऐसे दरिंदे अपराधियों का खुला घूमना बर्दाश्त के बाहर है

वही इस मामले में आज टेन न्यूज़ नेटवर्क ने दिल्ली महिला आयोग स्वाति मालीवाल से खास बातचीत की , साथ ही हमारे टेन न्यूज़ नेटवर्क के दमदार एंकर राघव मल्होत्रा ने स्वाति मालीवाल से एक से बढ़कर एक प्रश्न किए , जिसका जवाब स्वाति मालीवाल द्वारा दिया गया ।

आपको बता दें कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने दो दिन पहले पश्चिम दिल्ली में एक लड़की के साथ कथित रूप से यौन उत्पी़ड़न करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी में कथित देरी को लेकर पुलिस पर सवाल उठाए।

मालीवाल ने एम्स में लड़की से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि लड़की की हालत बहुत गंभीर थी और डॉक्टर कह रहे थे कि उन्हें यकीन नहीं था कि वह बच पाएगी या नहीं। मालीवाल ने कहा, ‘‘लड़की के पूरे शरीर में कई जगह फ्रैक्चर और चोट के निशान हैं। उसे इस हद तक बेरहमी से मारा गया है कि उसके शरीर के हर हिस्से में चोट के निशान हैं।

मालीवाल ने कहा कि इस घटना के दो दिन बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं डीसीपी से जांच के बारे में पूछने जा रही हूं।’’ उन्होंने पुलिस पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, ‘‘क्या सीसीटीवी फुटेज की जांच की गई है? अब तक कितने बयान दर्ज किए गए हैं? मालीवाल ने मांग की कि आरोपियों को तुरंत मौत की सजा दी जानी चाहिए

स्वाति मालीवाल ने कहा मैं 12 साल की बच्ची से मिली हूं , उसको काफी ज्यादा चोटें आई हैं। बिल्कुल दरिंदगी तरीके के साथ उस मासूम बच्ची के साथ बलात्कार किया है और उसके सर पर फैक्चर है , इंटरनल ऑर्गन्स समेत प्राइवेट पार्ट्स को नुकसान पहुंचाया गया है , वह बिल्कुल एक तरीके से फट गए हैं ।

उन्होंने कहा कि वह लड़की जिंदगी और मौत से लड़ रही है , यह भी नहीं पता कि वह शायद बच पाएगी या नहीं। मैं उस बच्ची की परिवार वालों से मिली हूं , वह बिल्कुल बहुत गरीब परिवार और बहुत ही ज्यादा सिंपल लोग हैं

 

https://m.facebook.com/tennews.in/videos/938524209906578/

 

 

उनको सिर्फ दो ही चीजें चाहिए , एक तो यह है कि उनकी बेटी बच जाए और दूसरा है दोषी को मौत की सजा दी जाए । इन दोनों चीजों को पूरा करने के लिए दिल्ली महिला आयोग पूरी कोशिश कर रहा है , उससे पहले भी जब जब ऐसे केस आते हैं , तो मैं पूरी कोशिश करती हूं की पीड़ित से जाकर मिलती हूं , जितनी मदद हो सकती है दिल्ली महिला आयोग की तरफ से करवाती हूं ।

स्वाति मालीवाल ने कहा कि जब तक सख्त सिस्टम नहीं बनेगा , लोगों के अंदर डर नहीं बैठेगा , लोगों को लगेगा नहीं अगर वह किसी बच्ची या महिला के साथ गलत करेंगे तो उनको सिस्टम बख्शेगा नही

स्वाति मालीवाल ने कहा कि जब तक देश में स्ट्रांग मैसेज नहीं फैलेगा, तब तक ऐसी वारदातें होती रहेंगी , जिसको लेकर हमारी पुलिस और सरकार को इस पर काम करना होगा । वही हमारी दिल्ली महिला आयोग यह चाहती है इस मामले में सख्त से सख्त कानून बने , जिससे ऐसी गंभीर वारदात फिर से ना हो । साथ ही जो कानून अभी 2 साल पहले बना है उसको तत्काल प्रभाव से लागू किया जाए।

बच्चों और महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध को देखते हुए मैं अनशन पर बैठी थी, 10 दिन तक मैं भूखी बैठी रही । 10 दिन बाद केंद्र सरकार ने एक कानून भी बनाया कि छोटे बच्चों के साथ हो रहे बलात्कारों के आरोपियों 6 महीने के अंदर फांसी की सजा दी जाएगी , लेकिन मुझे बहुत दुख होता है की आज 2 साल से ज्यादा हो गए हैं लेकिन यह कानून धरातल पर नजर नही आया ।

उन्होंने कहा कि इसी दिसंबर में फिर से अनशन पर बैठी थी , 13 दिन मैं भूख हड़ताल पर रही, मेरी तबीयत बिगड़ने लगी , जिसको देखते हुए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने मुझे जबरदस्ती अस्पताल में भर्ती कराया और मेरा अनशन खत्म करवाया , लेकिन अभी तक वह कानून लागू नहीं हुआ , जिसके कारण लोगों को डर नहीं लगता

पिछले दिसंबर में हैदराबाद लड़की के साथ गैंग रेप हुआ था , उसके बाद उसका मर्डर कर दिया गया था , तब मैं 13 दिन के अनशन पर बैठी हुई थी । उस अनशन में सिर्फ एक ही डिमांड थी कि कानून बन गया है उसे लागू कीजिए ।

लागू कैसे होगा पहले पुलिस के संसाधन बढ़ाने की जरूरत है , पुलिस की जवाबदेही तय करने की जरूरत है , फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाने की जरूरत है । दिल्ली देश की राजधानी है , लेकिन किसी भी पुलिस स्टेशन में चले जाइए जिसमें पता चल जाएगा कि आखिर पुलिस कितना काम कर रही है ।

जो लोग काम करने के इच्छुक है , उनको वीआईपी ड्यूटीज में लगा दिया जाता है। तो जनता को कौन सुरक्षा देगा , अगर पुलिस के संसाधन बढ़ जाए , उनकी जवाबदेही तय हो जाए , फास्ट ट्रेक कोर्ट बन जाए , जिसमें दोषियों को 6 महीने के अंदर फांसी की सजा सुनाई जाए तो आने वाले समय में रेप होने बंद हो जाएंगे।

स्वाति मालीवाल ने कहा हर हाल और तुरंत अपराधियों को सजा मिलनी चाहिए और साथ ही सख्त कानून बने जिससे अपराधियों के रूह कांप जाए ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.