- Advertisement -

नोएडा में डेंगू का कहर, जिला व निजी अस्पतालों के बेड हुए फुल, पढें पूरी खबर

Ten News Network

0 331

नोएडा :– नोएडा में डेंगू का कहर बढ़ता ही जा रहा है, खासबात यह है की नोएडा में निजी और सरकारी अस्पताल के अंदर बेड फुल हो गए है, जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ने लगी है।

 

आपको बता दें कि नोएडा जिले में 24 घण्टे के अंदर डेंगू के सर्वाधिक 41 नए मरीज मिले। इन मरीजों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। डेंगू और बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इससे सरकारी और निजी अस्पतालों के बिस्तर फुल हो गए हैं। मरीजों के इलाज के लिए अतिरिक्त बिस्तर भी लगाए गए हैं।

 

जिले में अब कुल मरीजों की संख्या 157 हो गई है। डेंगू के साथ ही वायरल बुखार के मरीजों की संख्या दोबारा बढ़ने लगी है। जिला अस्पताल में ही 600 से अधिक मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। वहीं बड़े निजी अस्पतालों में भी बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ी है।

 

नोएडा के सेक्टर-27 स्थित एक निजी अस्पताल में मरीजों की संख्या इतनी अधिक हो गई कि यहां के सभागार में 40 अतिरिक्त बेड लगाए गए। एक दिन में इक्का-दुक्का बेड को छोड़कर सभी मरीजों से भर गए। जिला अस्पताल में भी सभी 100 बेड पर मरीजों का इलाज चल रहा है।

 

शिशु अस्पताल के आपातकालीन विभाग में भी प्रतिदिन 25 से अधिक मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं। यहां कई बार एक बेड पर दो मरीजों को रखना पड़ रहा है। कोविड जांच के बाद मरीज को वार्ड में शिफ्ट किया जा रहा है। जांच और रिपोर्ट आने में करीब 4-6 घंटे तक मरीजों को आपातकालीन विभाग में रहना पड़ रहा है।

 

शिशु अस्पताल की निदेशक डॉ. ज्योत्सना मदान ने बताया कि आपातकालीन में आने वाले मरीजों की पहले कोविड जांच की जाती है। कोविड जांच निगेटिव होने के बाद उन्हें वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है। अगर मरीजों की संख्या और भी ज्यादा हुई तो आपातकालीन विभाग में बेड की संख्या बढ़ानी पड़ेगी। अभी 19 बेड हैं।

 

जिला मलेरिया अधिकारी राजेश शर्मा ने बताया कि दवाओं का छिड़काव और अलग-अलग स्थानों का निरीक्षण जारी है। जहां-जहां मरीज मिले हैं वहां के आसपास के क्षेत्र में भी दवाओं का छिड़काव किया गया है।

 

डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 157 हो गई है, जिला अस्पताल की आईपीडी में 100 बेड फुल, एक निजी अस्पताल ने मरीज बढ़ने पर 40 अतिरिक्त बेड लगाए गए है, प्रतिदिन 25 मरीज शिशु अस्पताल में इलाज के लिए आ रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.