रंगीन आतिशबाजी के साथ धार्मिक रामलीला में अहंकार के प्रतीक रावण का किया दहन

ABHISHEK SHARMA

0 55

ग्रेटर नोएडा के सेक्टर 5 स्थित रामलीला मैदान में  भव्य रामलीला मंचन का आयोजन किया गया रामलीला के आखिरी दिन यानी विजय महोत्सव के मौके पर मंचन के जरिए बुराई पर अच्छाई की जीत का संदेश दिया गया विजय महोत्सव पर मुख्य अतिथि के रूप में नोएडा विधायक पंकज सिंह जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह जिलाधिकारी डी एन सिंह एसएसपी वैभव कृष्णा  मौजूद रहे कार्यक्रम की शुरुआत पूजा अर्चना व दीप प्रज्वलित करके की गई।



विजय महोत्सव के मौके पर आखिरी दिन की लीला का मंचन किया गया जिसमें श्री राम ने लंका पर चढ़ाई की एवं रावण, मेघनाथ,  कुंभकरण का वध किया। उसके पश्चात विभीषण को श्री राम ने लंका की राजगद्दी पर बैठा कर उनका राजतिलक किया।

हर साल की तरह इस साल भी रामलीला मैदान पर रावण दहन किया गया। रावण दहन के पूर्व आतिशबाजी खास आकर्षण थी। शाम को साढ़ सात बजे दशहरा मैदान पर रावण, मेघनाद एवं कुम्भकर्ण के पुतलों का दहन किया गया। रामलीला मैदान में कार्यक्रम के पूर्व ही लोगों का आना शुरू हो गया था।

यहां पर शाम तक काफी संख्या में लोगों की भीड़ देखने को मिली। वहीं हजारों लोगों की भीड़ को देखते हुए रावण दहन के पूर्व सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद की गई ताकि कोई अभी अप्रिय घटना घटित न हो। रामलीला मैदान में सीसीटीवी से निगरानी  रखी गई थी।

इस मौके पर नोएडा विधायक पंकज सिंह ने कहा कि रावण एक महाज्ञानी इंसान था लेकिन उसके क्रोध और अहंकार ने उसका जीवन समाप्त  कर दिया। लोगों को विजयमहोत्सव के पर्व से सीख लेनी चाहिए एवं अपने जीवन में श्री राम के चरित्र को अपनाएं।

वहीं जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने कहा कि आज यहां पर हजारों की संख्या में लोग रावण दहन देखने आए है। रावण कोई बुरा व्यक्ति नहीं था अपितु वह विद्वान होने के साथ-साथ महाशक्तिशाली था। उसकी हठ, क्रोध एवं अहंकार ने उसका सर्वनाश कर दिया। उन्होंने कहा कि असत्य पर हमेशा सत्य की जीत होती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.