भारत जल्द बनेगा ‘आत्मनिर्भर’, युवाओं में दिख रहा है जोश : डॉ प्रवीण पचौरी (निदेशक एनआईइटी ग्रेटर नोएडा)

Rohit Sharma

0 115

नई दिल्ली :- देश में लॉकडाउन 5 चल रहा है जो 30 जून तक लागू रहेगा , साथ ही 8 जून से अनलॉक 1 भी शुरू हो चुका है। आपको बता दे कि प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन के दौर में पांचवी बार राष्ट्र के नाम संबोधन दिया। उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया था। मोदी ने एक बेहद महत्वपूर्ण बात लोकल से वोकल को लेकर कही थी। यानी लोकल प्रोडक्ट्स को लेकर जागरुक बनें और इनको बढ़ावा दें। जिसपर सरकार , उद्यमी समेत युवा भी काम कर रहे है , जिससे हमारे देश की अर्थव्यवस्था सुधर सके।

उन्होंने साफ कहा था कि संकट के इस दौर में देश को लोकल ने ही बचाया। इसलिए, अब इसे ग्लोबल बनाना भी हमारी ही जिम्मेदारी है। मोदी ने अपने भाषण में 28 बार आत्मनिर्भरता शब्द का इस्तेमाल किया।

वही टेन न्यूज़ नेटवर्क के माध्यम से विषेशज्ञों द्वारा आत्मनिर्भर भारत पर चर्चा की। आपको बता दें कि इस चर्चा में ग्रेटर नोएडा एनआईइटी के निदेशक डॉ प्रवीण पचौरी, वीएस एनर्जी एंड ऑटोमेशन प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक विवेक सिंह , लोटफि कंपनी के सीईओ अर्पित छाबरा, ओम सइंटिफ़िक प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक डॉ अनीश प्रियदर्शी , मानवी एलिवेटर्स के सीईओ विवेक कुमार शामिल रहे।

ग्रेटर नोएडा एनआईईटी के निदेशक डॉ प्रवीण पचौरी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेजस्वी भाषण दिया था। मोदी ने अपने भाषण में 28 बार आत्मनिर्भरता शब्द का इस्तेमाल किया, जिससे यह साफ हो जाता है की अब समय आ गया है कि लोग अब आत्मनिर्भर होकर काम करे। 100 सालों के बाद ये बड़ी आपदा है। सरकार फिर भी काम कर रही है। विशेष योजनाए घोषित हुई, साथ ही बहुत सी योजनाए धरातल पर नज़र आने लगी है, जिससे लोगों को फायदा मिल रहा है।

आत्मनिर्भर भारत को लेकर डॉ प्रवीण पचौरी कहना है कि अब युवा नौकरी के लिए नहीं जा रहा है। अब लोगों को नौकरी देने के लिए काम रहा है। हमारे देश की वित्त मंत्रालय निर्मला सीतारमण ने जिस तरह 20 लाख करोड़ का पैकेज के बारे में लोगों को बताया है , जिसके कारण खुद लोग अपना व्यवसाय कर रहे है, जिसमे बहुत से लोगों को रोजगार मिल रहा है।

साथ ही उन्होंने कहा कि 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज 2020 में देश की विकास यात्रा को आत्मनिर्भर बनाने में नई गति मिली है। समाज के हर वर्ग आर्थिक पैकेज का लाभ उठा रहे है | बड़े पैकेज की मांग की जा रही थी. यह आर्थिक पैकेज जीडीपी का 10 फीसदी है. यह छोटा पैकेज नहीं है, 20 लाख करोड़ रुपये था।

उद्योग सेक्टर की जो मांग थी, वह पूरी हुई है | समाज के हर वर्ग को बहुत कुछ मिला है . हर स्तर के लिए कुछ न कुछ मिला है | जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान किया गया था , वह रकम इतनी बड़ी है कि कई देशों के सालाना बजट इसमें समा जाएं | पैकेज भारत की जीडीपी का करीब-करीब दस प्रतिशत है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान से हमारे देश को नई गति मिली है | आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए इसमें सभी पर बल दिया गया है | हमारे कुटिर उद्योग, लघु उद्योग और मंझोले उद्योग आत्मनिर्भर भारत को मजबूत करने में लगे हुए है।
आत्मनिर्भर भारत पर ओम सइंटिफ़िक प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक डॉ अनीश प्रियदर्शी ने कहा की युवाओ को रोजगार शुरू करने के लिए हौसला अपना बुलंद रखना चाहिए | इस बुलंद हौसले से अपने व्यवसाय को बहुत ही बड़े स्तर पर लेकर जा सकता है | साथ ही उन्होंने कहा की इस आत्मनिर्भर भारत में लोकल पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है , जो पहले ही होना था | सरकार ने जो आत्मनिर्भर भारत को लेकर कदम उठाया है वो काफी ज्यादा सराहनीय है।

नए व्यवसाय शुरू करने के लिए धैर्य की जरूरत है , थोड़ा इंतजार करना पड़ता है , उसके बाद व्यवसाय बहुत ही तेजी से आगे बढ़ता रहता है | साथ ही उन्होंने कहा की व्यवसाय शुरू करने से पहले मार्केटिंग सर्वे की बहुत जरूरत है।

मानवी एलिवेटर्स के सीईओ विवेक कुमार ने कहा की नए व्यवसाय शुरू करने से पहले बहुत सी जानकारिया प्राप्त करनी चाहिए, साथ ही जिस काम को आप शुरू करना चाहते है उसे पहले आप सीख ले, जिससे आपको परेशानियां का सामना नहीं करना पड़े। विवेक कुमार ने कहा कि मार्किट सर्वे की बहुत जरूरत है , जिससे व्यवसाय करने में बहुत ही आसानी होती है।

लोटफि कंपनी के सीईओ अर्पित छाबरा ने कहा कि बिजनेस शुरू करने के लिए बहुत सी जानकारिया लेनी की जरूरत होनी चाहिए। आप कोई भी व्यवसाय शुरू करने के लिए हमेशा यह सोचना चाहिए की क्वालिटी और क्वांटिटी पर भी ध्यान देना चाहिए। धैर्य की जरूरत है, थोड़ा इंतजार करना पड़ता है , उसके बाद व्यवसाय बहुत ही तेजी से आगे बढ़ता रहता है। साथ ही उन्होंने कहा की व्यवसाय शुरू करने से पहले मार्केटिंग सर्वे की बहुत जरूरत है।  साथ ही उन्होंने कहा कि बिजनेस के लिए सरकार उद्यमियों का साथ दे रही है, जिससे बहुत से लोगों को रोजगार मिल सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.