गलगोटिया विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा ने किया शिक्षकों को सम्मानित

0 399

गलगोटिया विश्वविद्यालय ग्रेटर नोएडा के तत्वाधान में हाल ही में प्रथम रिसर्च एण्ड इनोवेशन अवार्ड 2019 का आयोजन किया गया। जिसमें 35 असिस्टैंट प्रोफेसर 34 एसोसिएट प्रोफेसर 21 प्रोफेसर सहित कुल 90 शिक्षकों को नगद राशी और प्रस्सति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इन सभी सम्मानित शिक्षकों ने अंर्तराष्ट्रीय पत्रिकाओं पेटेंटस रिसर्च प्रोजेक्टों में उच्च गुणवत्ता पूर्ण पत्रों और प्रमुख शोधों के द्वारा योगदान दिया हैं। कार्यक्रम में अनुसंधान समन्वयकों को भी सम्मानित किया गया। जिसके द्वारा गलगोटिया विश्वविद्यालय उच्च गुणवत्ता के अनुसंधान करने के लिये अपने संकाय सदस्यों को प्रेरित करने में सफल रहा है।

संकाय सदस्यों के द्वारा चिकित्सा विज्ञान प्रौद्योगिकी कृषि व्यवसाय प्रबंधन शिक्षा मिडिया संचार वित्त एवमं वाणिज्य के विषयों पर शोध किये गये हैं। विश्वविद्यालय के बहु विषयक अनुसंधान को बढावा देने के कारण स्कूल ऑफ फार्मेसी के द्वारा सबसे अधिक 47 पेटेंट और 137 रिसर्च पेपर्स प्रकाशित किये गये हैं।

अवार्ड कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आईआईटी दिल्ली के पूर्व निदेशक और वर्तमान में बेनेट विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ0 रघुनाथ के0 शेवगाँवकर शामिल हुए। डॉ0 शेवगाँवकर ने अपने अभिभाषण में कहा कि उद्योग और समाज में नये से नये अनुसंधान किये जाने चाहियें। उन्होंने संकाय सदस्यों से कहा कि वो अपने अपने क्षेत्र में योग्य अनुसंधान करें। इनोवेशन और रिसर्च दोनों को अलग अलग क्षेत्र बताते हुए गलगोटिया विश्वविद्यालय के संकायों के शोध उपलब्धियों की सराहना की और कहा कि लिबरल आर्टस को इंजीनियरिग का अभिन्न अंग बनाया जाना चाहिये।

विश्वविद्यालय के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ध्रुव गलगोटिया ने शोध समिति के सफल प्रयासों की प्रशंसा करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय की शिक्षा अभिनव और अनुसंधान उन्मुख होने चाहिये। उन्होंने कहा कि जीवन में अनुसंधान को शामिल करने के लिये प्रौद्योगिकि में तेजी से पुस्तक परिवर्तन होना बहुत जरूरी हैं। जिसके लिये शिक्षकों को हर सम्भव मदद देने का आश्वासन देते हुए कहा कि अकादमिक अनुसंधान को अनुसंधान प्रकाशन से परे जाना चाहिये। और नये उत्पादों एवमं प्रौद्योगिकी का नवाचार करना चाहिये।

विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर डॉ0 प्रीति बजाज ने कहा कि ऐसे अवार्ड विश्वविद्यालय में इनोवशन और रिसर्च गतिविधियों को बढावा देंगें। और अन्य संकाय और छात्रों को गुणवत्ता पूर्ण अनुसंधान और नवाचार करने के लिये प्रेरित करेंगें। उन्होंने अपने वक्तव्य में अवार्ड प्रोग्राम के उद्देश्य एवमं महत्व को प्रकाशित किया।

अवार्ड प्रोग्राम में मुख्य अतिथि और शिक्षकों को विश्वविद्यालय के चांसलर सुनील गलगोटिया ने सम्मानित किया। और स्वागत सम्बोधन वाइस चांसलर डॉ0 प्रीति बजाज एवमं धन्यवाद ज्ञापन रिसर्च कोऑर्डिनेटर बी0 बाला मुरूगन ने किया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.