गाजियाबाद में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी कर रहे बड़े गैंग का भंडाफोड़, कब्जे से 638 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद

Ten News Network

0 273

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण उत्तर प्रदेश में स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही हैं। अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सीजन की भारी किल्लत की बात लगातार सामने आ रही है। प्रदेश के सभी जिलों से आक्सीजन की किल्लत की खबरें भी सामने आ रही है। तो वहीं दूसरी तरफ, गाजियाबाद जिले में ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी के खेल का बड़ा खुलासा हुआ है।

दरअसल, गाजियाबाद पुलिस ने ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करते हुए एक शख्स को गिरफ्तार किया है। जिसके पास से करीब 638 ऑक्सीजन सिलेंडर बरामद हुए। पुलिस की गिरफ्त में आए शख्स ने बताया कि वो इन सिलेंडर को 10 हज़ार रुपये से लेकर 30 हजार रूपए में बेच रहा था।

गाजियाबाद एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के कारण ऑक्सिजन की मांग बढ़ गई। इस दौरान कुछ लोगों ने ऑक्सिजन की कालाबाजारी शुरू कर दी है। इस पर रोक लगाए जाने के मकसद से एसएसपी अमित पाठक के निर्देश पर एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है।

इसी कड़ी में पुलिस को सूचना मिली कि थाना लिंक रोड क्षेत्र अंतर्गत साइट 4, बी-30 औद्योगिक क्षेत्र में एक फैक्ट्री है। जहां पर भारी मात्रा में कालाबाजारी के लिए छोटे-बड़े ऑक्सिजन सिलेंडर जमा किए जा रहे हैं और यहीं से ऑक्सिजन की कालाबाजारी की जाती है।

सूचना के आधार पर पुलिस ने छापेमारी की, तो मौके पर समीर उर्फ सलीम पुत्र लईक अहमद निवासी रोहताश नगर शाहदरा दिल्ली मौजूद मिला और फैक्ट्री में 638 छोटे-बड़े खाली ऑक्सिजन सिलेंडर भी बरामद हुए। एसपी सिटी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए समीर उर्फ सलीम ने पूछताछ में बताया कि वह जय गोपाल इंटरप्राइजेज का कर्मचारी है और अपने मालिक जय गोपाल मेहता के कहने पर छोटा सिलेंडर 10000 रुपए में और बड़ा सिलेंडर 30000 रुपए में बेचता था। उन्होंने बताया कि अभी मुख्य आरोपी जय गोपाल मेहता फरार है। उसकी तलाश जारी है। जल्द ही उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा और दोनों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.