मुठभेड़ के दौरान नोएडा पुलिस के हत्थे चढ़ा 50 हज़ार का ईनामी बदमाश , दो दर्जन से ज्यादा मुकदमे में चल रहा था वांछित

ROHIT SHARMA / TALIB KHAN

110

नोएडा :– नोएडा थाना फेज 2 में स्थित याकूबपुर गाँव के पास पुलिस और बदमाशो के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान एक बदमाश के पैर में गोली लगने से घायल हो गया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। गिरफ्तार बदमाश की पहचान बुलंदशहर निवासी शहजाद उर्फ समीर के रूप में हुई है। इस पर पचास हजार रुपये का इनाम है और काफी गम्भीर वरदाताओं में फरार चल रहा था।

वर्ष 2017 में कोतवाली सेक्टर-24 थाना क्षेत्र में पेट्रोल पंप से लूट हुई थी। उसमें यह शामिल था। बदमाश के कब्जे से एक स्विफ्ट कार, एक 32 बोर पिस्टल और कारतूस बरामद हुईं है। शहजाद उर्फ समीर पर नोएडा-एनसीआर में दो दर्जन से भी अधिक मुकदमे है।



जिला अस्पताल में इलाज के लिए ले जया रहा बदमाश शहजाद उर्फ समीर पर लूटपाट और हत्या के प्रयास सहित 26 मामले चल रहे हैं। पुलिस के अनुसार थाना फेस-दो पुलिस व नोएडा क्राइम ब्रांच को सूचना मिली थी कि कुछ बदमाश स्विफ्ट कार में सवार होकर लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए फेस-2 क्षेत्र में आ रहे हैं। सूचना के आधार पर थाना फेस-2 पुलिस व क्राइम ब्रांच ने नाका बन्दी कर चेकिंग शुरू कर दी।

देर शाम याकूबपुर गाँव के पुश्ते के पास एक स्विफ्ट कार पुलिस को आती हुई दिखाई दी। जब पुलिस ने कार को रुकने का इशारा किया तो कार में सवार बदमाश ने पुलिस पर गोलियां चलानी शुरू कर दी। उन्होंने बताया कि जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी गोली चलाई। पुलिस द्वारा चलाई गई गोली शहजाद उर्फ समीर के पैर में लगी है।

पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि आरोपी शहजाद दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद, बुलंदशहर से लेकर कई शहरों में लूट,हत्या जैसी बड़ी वारदात में शामिल रहा है। अभी तक इस पर 25 से अधिक मुकदमे दर्ज होने की जानकारी नोएडा पुलिस को मिली है। इसके पास से बरामद स्विफ्ट कार भी लूट की है। यह कार दिल्ली के आनंद विहार इलाके से 26 फरवरी को लूटी गई थी।

पुलिस के अनुसार शहजाद नोएडा सहित एनसीआर के शहरों में सक्रिय था। यह अपने लोगों के साथ बाइक व कार से निकलता था और राहगीरों से गन प्वाइंट पर नकदी, मोबाइल लूट लेते थे। शहजाद खासतौर नोएडा के औद्योगिक सेक्टरों में सक्रिय रहता था। यहां कंपनी व फैक्ट्री आने जाने वाले कर्मचारियों की रेकी कर लूट किया करते थे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.