प्रदूषण रोकने के लिए आज से ग्रैप लागू, नोएडा प्राधिकरण ने जारी किए दिशा-निर्देश

ABHISHEK SHARMA

0 79

नोएडा में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है। यहां हवा की गुणवत्ता रेड जोन में पहुंच गई है। निगरानी एजेंसियों ने अनुमान लगाया है कि आने वाले समय में हवा और दूषित होने की संभावना है। हवा में धूल के कण बढ़ रहे हैं, जिससे लोगों की आंखों में जलन की शिकायत होने लगी है।

ऐसे में आज (बृहस्पतिवार) से लागू हो रहे ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) के तहत नोएडा प्राधिकरण ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं। हॉट मिक्सिंग प्लांट पर पूरी तरह से रोक रहेगी। कंस्ट्रक्शन मलबे को कलेक्शन सेंटर पर ढक कर लाना होगा। यहां से इसे सीएनडी प्लांट ले जाया जाएगा।

प्रदूषण की रोकथाम के लिए वर्क सर्किल अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंप दी गई है। ऐसा कोई काम नहीं किया जाएगा जिसमें निर्माण सामग्री का प्रयोग होता है और उससे धूल उड़ती है। निर्माणाधीन साइटों पर एंटी स्मॉग गन मशीन लगा दी गई है।

सर्किल अधिकारियों की एक टीम बना दी गई है। यह टीम शहर में छापेमारी कर बढ़ते प्रदूषण कारकों को रोकेगी और उनकी रोकथाम करेगी।

*ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान के तहत नोएडा प्राधिकरण ने जारी की यह गाइडलाइन*

– प्रत्येक वर्क सर्किल की तरफ से पानी का छिड़काव किया जाएगा। इसकी सूचना प्रत्येक शाम को आला अधिकारियों को देनी होगी।

– मैकेनिकल स्वीपिंग की गाड़ियों का ज्यादा से ज्यादा स्थानों पर प्रयोग होगा, ताकि धूल ना उड़े।

– सभी बड़ी परियोजनाओं को मिलाकर कुल 13 स्थानों पर एंटी स्माॅग गन लगा दी गई है।

– कंस्ट्रक्शन कार्य करने से पहले उसे पूरी तरह से ग्रीनशीट से ढकना होगा। निरीक्षण के दौरान खुला पाए जाने पर सख्त कार्रवाई होगी।

– 5 अक्टूबर से सीएनडी वेस्ट प्लांट चल रहा है। सड़कों पर कंस्ट्रक्शन मलवा नहीं होना चाहिए। इस पर कार्यवाही की जाएगी।

– 235 किलोमीटर की सड़कों को डस्ट फ्री जोन बनाया जा चुका है और इसे आगे बढ़ाया जाएगा।

– नाइट वॉशिंग सप्ताह में 2 दिन की जाएगी। 2 दिन जहां नाइट वाॅशिंग की जा रही है। वहीं फुटपाथ व सड़कों को धुलवाया जाएगा

– कंस्ट्रक्शन साइट पर लगातार पानी का छिड़काव भी होना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.