जस्टिस डी.पी सिंह ने किया नोएडा का तूफानी दौरा, शहर में बढ़ रहे प्रदुषण को बताया जानलेवा

Abhishek Sharma / Rahul Kumar Jha

73

हाई कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस डी पी सिंह उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं। कल उन्होंने गाजियाबाद का जायजा लिया और आज नोएडा में निरीक्षण के लिए पहुंचे। उन्होंने आज नोएडा की विभिन्न जगहों का निरीक्षण किया और शहर की दुर्दशा को लेकर गहरी चिंता जताई। नोएडा का निरिक्षण करने के बाद उन्होंने नोएडा प्राधिकरण के दफ्तर में प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि यह शहर जितना सुंदर है, उतना ही प्रदूषित भी है। इस शहर में बढ़ता प्रदूषण बेहद ही चिंता का विषय है।


उन्होंने कहा कि यहां पर बने हुए डंपिंग ग्राउंड ढके हुए नहीं हैं, जिससे बड़ी मात्रा में हमारे आसपास प्रदूषण फैलता जा रहा है। यह न जाने कितने प्रकार की बीमारियों को उत्पन्न कर रहा है। वहीं उन्होंने कल गाजियाबाद का जायजा किया और बताया कि प्रताप विहार की हालत बेहद दयनीय हैं। वहां पर लोग बीमारियों से जूझ रहे हैं। हिंडन पर लोगों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। जिसमें जीडीए का भी हाथ है।

हिंडन पूरी तरह से बर्बाद हो चुकी है जो कि लोगों के लिए भविष्य में बेहद खतरनाक साबित होगा। यहां के पानी से लोगों में कैंसर की बीमारी फैलने का डर बना हुआ है और रिपोर्ट के आधार पर पाया भी गया है कि बढ़ते हुए प्रदूषण के कारण कैंसर समेत कई अन्य तरह की बीमारियां फैल रही हैं।

उन्होंने बताया कि नोएडा में कई जगह देखा गया है कि सड़क के किनारे खुला हुआ कूड़ा पड़ा हुआ है। वहीं नोएडा वह ग्रेटर नोएडा में डंपिंग साइट्स बने हुए हैं, जस्टिस डीपी सिंह ने नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा है कि सड़कों पर फैले हुए कूड़े, खुले डंपिंग ग्राउंड, यमुना में निर्मित अवैध कालोनियां समेत कई समस्याएं हैं जो कि जल्द से जल्द इनका निपटारा किया जाए।

उन्होंने प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि 30 जून तक पूरे शहर में जगह-जगह तीन तरह के डस्टबिन लगे होने चाहिए।
वहीं उन्होंने सेक्टर 54 में बने कवर्ड ट्रांसफर्ड स्टेशन की तारीफ की और कहा कि उन्होंने पूरे यूपी में ऐसा सिर्फ नोएडा में देखा है बाकी सब जगह पर खुले हुए ट्रांसफर्ड स्टेशन बने हुए हैं। आपको बता दें कि कल जस्टिस डी पी सिंह ग्रेटर नोएडा के दौरे पर रहेंगे और पूरे शहर का निरीक्षण करेंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.