लाइफ लाइन को सवंरने में लगेंगे एक साल

0 1,264

ग्रेटर नोएडा शहर की लाइफ लाइन बनने जा रही 130 मीटर चैड़ी सड़क का काम पूरा होने में अभी एक साल का समय लग सकता है। सड़क निर्माण में किसान बांधक बन गए हैं। किसानों की याचिका पर कोर्ट ने करीब 1 किलोमीटर लम्बी सड़क के लिए अधिग्रहित जमीन को रद्द कर दिया है। लिहाजा प्राधिकरण दुबारा जमीन लेने के लिए किसानों से बातचीत का प्रयास कर रहा है।
ग्रेटर नोएडा शहर को नोएडा, गाजियाबाद, दादरी और यमुना एक्सप्रेस-वे प्राधिकरण के क्षेत्र और पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को जोड़ने के लिए 130 मीटर चैड़ी सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। इस सड़क का निर्माण शुरू हुए करीब चार साल हो चुके हैं। मगर अभी तक काम पूरा नहीं हो सका है। प्राधिकरण के चेयरमैन रमा रमन ने बताया कि कुल 28.20 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण किया जाना है। जिसमे से 23 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण पूरा कर लिया गया है। यह सड़क नोएडा पर्थला खंजरपुर होते हुए सेक्टर केपी-5 और ईकोटेक वन होकर गांव सिरसर से डीएससी रोड तक काम पूरा हो चुका है और आवागमन भी शुरू हो गया है। जबकि इस सड़क के पूरा होने में अभी कुछ वक्त लग सकता है। सीईओ ने बताया कि खोदना खुर्द गांव के किसानों ने जमीन देने से मना कर दिया था, जिससे 2.85 किलोमीटर लम्बी सड़क के निर्माण में अवरोध पैदा हो गया था। मगर अब समस्या का समाधान हो गया है और निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। जिसमे मिट्टी का कार्य पूरा हो गया है। इसके साथ यहां पर लोहिया नाले पर 18 मीटर लम्बा पूल का निर्माण पूरा कर लिया गया है। सीईओ ने बताया कि इसका निर्माण कार्य मार्च तक पूरा कर लिया जाएगा। वहीं, किसानों द्वारा जमीन अधिग्रहण के खिलाफ कोर्ट में चले जाने के कारण करीब एक किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण बाधित हो गया है। कोर्ट ने अधिग्रहित जमीन को रद्द कर दिया है। सीईओ कहना है कि प्राधिकरण ने जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू कर दिया है। किसानों से बातचीत जारी है और डाॅयरेक्ट जमीन खरीदने की कोशिश की जाएगी। सीईओ ने बताया कि 130 मीटर चैड़ी सड़क को ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे से जोड़ा जाएगा। सिरसा से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे तक 1.74 किलोमीटर लम्बी सड़क बनाई जाएगी। जिसका ले-आॅउट प्लान तैयार हो चुका है और कार्य की लागत का स्टीमेट बनाया जा रहा है। वहीं, सिरसा से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे को 130 मीटर सड़क को जोड़ने के बाद इसे दनकौर-सिकंद्राबाद रोड से भी जोड़ा जाएगा, जो यमुना एक्सप्रेस-वे विकास प्राधिकरण की सड़क से जुड़ेगा। इसकी कुल दूरी करीब 7 किलोमीटर होगी। जिसके लिए जमीन अधिग्रहण का प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.