दिल्ली: अस्पताल के पीछे नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म, पश्चिम बंगाल से नौकरी के लिए आई थी पीड़िता, दो आरोपी गिरफ्तार

Rohit Sharma (Photo-Video) Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

0 83

दिल्ली के मोती नगर के बसई धारापुर में स्थित ईएसआई अस्पताल के पीछे किशोरी के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दो आरोपी किशोरी को नौकरी दिलाने का झांसा देकर ईएसआई अस्पताल के पीछे सुनसान जगह पर ले गए थे।



मोती नगर थाना पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म की इस गुत्थी को छह घंटे में सुलझाने का दावा करते हुए रवि और अंकित चौधरी उर्फ वासू को गिरफ्तार किया है। मंगलवार देर रात आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही थी।

पश्चिमी जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार इस बाबत नौ सितंबर को शाम करीब पौने चार बजे सूचना मिली थी। सूचना ईएसआई अस्पताल के सिक्यूरिटी सुपरवाइजर ने दी थी। पीड़ित किशोरी की उम्र 16 वर्ष है।

पश्चिमी बंगाल की रहने वाली किशोरी तीन महीने पहले एक रिश्तेदार के जरिए दिल्ली आई थी। वह मोती नगर में एक घर में घरेलू सहायिका का काम करती थी। उसे सोमवार सुबह घर का कुछ सामान लाने के लिए बोला गया था। इसके बाद वह पार्क में चली गई।

पार्क में रवि व अंकित चौधरी नामक युवक बैठे हुए थे। इन युवकों ने गलत नीयत से किशोरी से जान-पहचान की और अच्छी जगह मोटी तनख्वाह पर नौकरी दिलाने का झांसा दिया।

दोनों आरोपी किशोरी को बसई धारापुर में स्थित ईएसआई अस्पताल के पीछे सुनसान जगह पर ले गए और वहा उसे साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। किशोरी ने ये बात अस्पताल के सिक्यूरिटी गार्ड को बताई।

मोती नगर थाना पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म व पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्जकर जांच शुरू की। पुलिस अधिकारियों के अनुसार आरोपियों के बारे में किशोरी को कुछ पता नहीं था और न ही पुलिस के पास कोई सुराग था।

पुलिस ने घटनास्थल के पास लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। डंप डाटा खंगाला गया। आखिरकार पुलिस ने दोनों आरोपियों को बसई धारापुर स्थित उनके घर से वारदात के छह घंटे बाद ही गिरफ्तार कर लिया। रवि मजूदरी करता था, जबकि अंकित चौधरी उर्फ वासू बेरोजगार है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.