कृषि कानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन में केजरीवाल का बयान , केंद्र सरकार ने किसानों को दिया धोखा

Rohit Sharma

0 173

नई दिल्ली :– कृषि से सम्बंधित तीन बिल के खिलाफ आज आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल , मंत्री गोपाल राय , राज्यसभा सांसद संजय सिंह , राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता , आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रदेश अध्यक्ष व सांसद भगवंत मान समेत हज़ारों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के जंतर मंतर पर प्रदर्शन किया ।

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि किसान कानूनों को लेकर देश के किसानों को खेत छोड़कर प्रदर्शन करना पड़ रहा है. यह समय खेती के लिहाज से व्‍यस्‍तता का समय है, धान काटने का समय है लेकिन किसान प्रदर्शन करने के लिए मजबूर है।

 

 

दिल्‍ली के सीएम ने कहा, आज दुख के मौके पर प्रदर्शन करने आये हैं । कृषि कानून के ज़रिए सरकार खेती को किसान से छीनकर कंपनियों को देना चाहती है. मैं कहना चाहता हूं कि आज़ादी के बाद जब अनाज की दिक्कत थी तब कंपनियां नहीं, किसान काम आया था और हरित क्रांति की थी।

 

दिल्‍ली के सीएम ने कहा, ‘2014 में चुनाव से पहले बीजेपी ने वादा किया था कि स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करेंगे. रिपोर्ट कहती है न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य डेढ़ गुना होगा लेकिन चुनाव जीतने के बाद एमएसपी खत्म कर दिया, अब ये कह रहे हैं कि पूरे देश मे केवल 6% एमएसपी पर लेती है सरकार ये तो और शर्म की बात है।

 

हमने सरकारी स्कूल अस्पताल बंद नहीं किये, बल्कि ठीक किए. ऐसा ही इनको करना चाहिए था। पंजाब के मुख्यमंत्री और बादल दोनों किसके विरोध का नाटक कर रहे है? खुद के बनाये हुए बिल का? जनता को क्या बेवकूफ समझ रखा है?”

 

दिल्ली सरकार के मंत्री गोपाल राय ने कहा कि मोदी सरकार ने कृषि से सम्बंधित तीन बिलों को लागू करके किसानों के पीठ पर वार किया है , हमारी सरकार इस मामले में विरोध करती रही है , और आगे भी करती रहेगी ।

राज्यसभा सांसद ने कहा कि मोदी ने गैर कानूनी तरीके से इस बिल को पास कराया , आम आदमी पार्टी इस बिल का विरोध कर रही थी , में खुद पूरी रात सदन के बाहर प्रदर्शन करता रहा है , लेकिन मोदी सरकार ने विपक्ष की एक बात भी नही सुनी और गैर कानूनी तरीके से बिल पास कर दिया , हमारी पार्टी इस बिल का विरोध कर रही है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.