नई सरकार युवाओं और किसानों को दे विशेष तरजीह : प्रो. पूरन पांडेय

Abhishek Sharma / Baidyanath Halder

0 73

Greater Noida (26/05/19) : ऐतिहासिक प्रदर्शन करते हुए बीजेपी पिछली बार से भी ज्यादा सीटें के साथ सरकार में आई है। बीजेपी ने इसबार के चुनाव में अपने दम पर 303 के आंकड़े को हासिल किया है। एनडीए गठबंधन कुल 352 सीटें जीतने में सफल रहा है। बीजेपी की इस जीत में पीएम मोदी का चेहरा और बीजेपी चीफ अमित शाह की रणनीति को अहम माना जा रहा है।

सरकार से लोगों की क्या उम्मीदें होंगी इस विषय पर टेन न्यूज़ ने राष्ट्रीय संशोधक प्रोफ़ेसर पूरन पांडेय से बातचीत कर उनकी राय जानी। पूरन पांडेय ने शिक्षा, विकास और नीति के क्षेत्र मे राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं में अपना अहम योगदान दिया है।

*पेश हैं उनके द्वारा टेन न्यूज़ के साथ बातचीत में सांझा किये गए विचार*:

इस सरकार की सबसे बड़ी ताकत यह है कि बहुमत के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जीत मिली है और यह पूरे विश्व में एक इतिहास रचा गया है और हम इन सारी चीजों की पृष्ठभूमि में देखें तो सरकार बनाने का रास्ता पूरी तरह से साफ है। अब प्राथमिकताओं की बात की जाए तो पांच किस्म की प्राथमिकताएं होंगी जिन पर सरकार को काम करना चाहिए।

अगर बात की जाए युवाओं की तो हमारे देश में 6 सौ मिलियन लोग ऐसे हैं जिनकी औसतन उम्र 35 वर्ष है। सबसे पहले सरकार को देश के युवाओं की शिक्षा और उनके लिए रोजगार के बारे में सोचना चाहिए और बिना देर किए इस पर कार्य शुरू कर देना चाहिए। देश के कितने ऐसे बच्चे हैं जो शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाते हैं , जिसके चलते देश में बेरोजगारी बढ़ती है देश में समस्याएं अधिक उत्पन्न होती हैं , अगर सरकार इस पहलू पर काम करें तो निश्चित ही देश का विकास हो सकेगा। हमें युवाओं सबसे पहले उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान करनी चाहिए , जिसके बाद उनको रोजगार दिया जाए।



हमें यह भी देखना पड़ेगा कि विश्व में फॉर्मल जॉब्स नहीं है तो यह देखना पड़ेगा कि हमारी सरकार किस तरह से सोशल एंटरप्राइज, लोगों को स्टार्ट अप लगाने, उनको लोन देने की सुविधा और जो नीतिगत मामले हैं उनको कैसे आसानी से लोगों के प्रति खोला जाए।  मेरे हिसाब से पहले जो मूलभूत प्राथमिकता सरकार की होनी चाहिए वह है युवाओं को रोजगार और अच्छी शिक्षा देना है।

दूसरे मुद्दे की बात करें तो तो किसानों की समस्या काफी बढ़ी है , और सरकार ने इलेक्शन के समय यह बात कही थी कि किसानों के लिए कई तरह की घोषणाएं की थी। जिनको सरकार को अविलंब पूरा करना चाहिए। सरकार को एग्रीकल्चर की ओर भी विशेष ध्यान देना होगा , जिससे हमारे देश के अन्नदाता की स्थिति में सुधार आ सके।

तीसरे मुद्दे की बात करें तो जीएसटी और नोटबंदी को लेकर देश में बहुत सारी चर्चाएं हुई थी और वह चर्चाएं एक समय के लिए रुकी थी , लेकिन चर्चाएं होती रहती हैं। सरकार को जीएसटी में कुछ बदलाव करने चाहिए जिससे की आम लोगों पर अधिक भार ना पड़े हालांकि सरकार इसपर काम भी किया है , लेकिन अभी इसे और आसान किया जाए। जीएसटी और नोटबंदी के बाद हमारे देश में करदाताओं की संख्या बढ़ी है यह बात सरकार के पक्ष में जाती है।

अगला मुद्दा देश के इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर होगी हमारे देश में रेल , रोड , बिजली , पानी सामरिक इंफ्रास्ट्रक्चर जो चाइना से लगे हुए बॉर्डर या पाकिस्तान से लगे बॉर्डर हैं , इन बॉर्डरों तक जल्द से जल्द पहुँचने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ेगी। देश के भीतर एक स्थान से दूसरे स्थान तक कैसे जल्दी से जल्दी पहुंच पाए , हमें लगता है कि चौथी प्राथमिकता यह होनी चाहिए।

जैसा हमने देखा की एनडीए सरकार ने चाइना, अमेरिका, जापान, ऑस्ट्रेलिया समेत कई देशों से बातचीत शुरू की और जो सबसे बड़ी बात है आज के समय में भारत की जो साख है वह पूरे  विश्व में बहुत ही तेजी से आगे बढ़ रही है। तो हमें लगता है कि सरकार की ये सभी प्राथमिकताएं होनी चाहिए।  इन प्राथमिकताओं पर सरकार को तेजी से कार्य करना चाहिए

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.