नोएडा में ‘मोरा यूवीसी रूम एयर सैनिटाइजर’ लाँच, कोरोना वायरस को मात देने का दावा

Abhishek Sharma

0 125

Noida: कोविड़ वायरस के प्रकोप से आज पूरे विश्व भर में लोग पीड़ित और भयभीत हैं। इसके उपचार के लिए कोई औषधि या टीका अब तक विकसित नहीं हो पाया है। यह वायरस लोगों को दिन-प्रतिदिन अपना शिकार बनाता जा रहा है जिस की वजह से पूरे विश्व में लोगों की मृत्यु हो रही है।

पूरे विश्व में इस वायरस की वैक्सीन और दवा को विकसित करने के लिए डॉक्टर और वैज्ञानिक लगातार अनुसंधान कर रहे हैं लेकिन उन्हें अभी तक कोई सफलता नहीं मिल पाई है। इस दिशा में पहला सफल कदम मोरा यूवीसी रूम एयर सैनिटाइजर (Mora UVC Room Air Sanitizer) उपकरण के रूप में सामने आया है जिससे न सिर्फ कोविड़ फैमिली वायरस को रोका जा सकता है बल्कि खत्म भी किया जा सकता है। इसे पहली बार भारत में लॉंच किया जा रहा है।

एयर प्योर इंडिया कंपनी के डायरेक्टर मुकुल बाजपेयी ने बतायया कि मोरा यूवीसी रूम एयर सैनिटाइजर का विकास और डिज़ाइनिग, इंजीनिरिंग क्षेत्र की अग्रणीय कंपनी ‘लिंगो इंपेक्स’ (Lingo Impex) ने किया है। नोएडा के एनएसईज़ेड (NSEZ) में स्थित इस कंपनी को ताइवान की कंपनी के सहयोग से इंजीनिरिंग क्षेत्र में अनुसंधान और विकास का 25 सालों का अनुभव है। इस उपकरण के विकास को हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के आव्हान की दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम कहा जा सकता है।

इस उपकरण को भारत सरकार द्वारा स्थापित QCI (Quality Council Of India) के अंतर्गत एनएबीएल लैब (NABL) से परीक्षण के उपरांत मान्यता मिली है।

कोविड़ फैमिली वायरस को रोकने और उसे खत्म के लिए मोरा यूवीसी रूम एयर सैनिटाइजर डिवाइस से यूबीसी (UVC) वेवलेंथ को नियंत्रित कर विश्व में सर्वसम्मति से स्थापित वेवलेंथ 253.7 नैनो मीटर छोड़ी जाती है। जिससे कोविड फैमिली के वायरस का न्यूक्लियर अम्ल आरएनए (RNA) विभाजित हो जाता है और वह जीवित नहीं रह पाता। यह तकनीक इतनी सुरक्षित है कि इससे यूबीसी किरणें बाहर नहीं आ पाती हैं।

यूवीसी एयर सैनिटाइजर डिवाइस का इस्तेमाल इनडोर होटल, रेस्टोरेंट्स, हॉस्पिटल, क्लीनिक, फिल्म इंडस्ट्रीज, पब्लिक डीलिंग के ऑफिस, पोस्ट ऑफिस, बैंक, शोरूम, डिपार्टमेंटल स्टोर और हमारे घरों में कोविड फैमिली वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए किया जा सकता है।

कोविड फैमिली वायरस हवा के माध्यम से फैलता है। यह ऐरोसॉल (Airosol) के माध्यम से काफी लंबे समय तक हवा में रहता है जब कोई उसे सांस के माध्यम से अपने शरीर में लेता है तब कोविड फैमिली के वायरस का संक्रमण होने का खतरा बढ़ जाता है। यह डिवाइस हवा में फैले हर तरह के वायरस और बैक्टीरिया को खत्म करने में पूर्णतः सक्षम है।

भारत में निर्मित की गई मोरा यूवीसी एयर सैनिटाइजर डिवाइस कोविड फैमिली के वायरस से बचने के लिए, इस वायरस से पीड़ित होने पर जल्दी स्वस्थ करने के लिए और परिवार में संक्रमण को रोकने के लिए पूर्णत: सहायक है।

इस डिवाइस की मार्केटिंग Air Pure India द्वारा की जा रही है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.