नोएडा प्राधिकरण गाय के गोबर से बनाएगा ईको फ्रेंडली गमले, होगी राजस्व बढ़ोतरी

Abhishek Sharma

0 105
नोएडा प्राधिकरण की ओर से जल दोहन को रोकने, एसटीपी के पानी शत प्रतिशत प्रयोग, डस्ट फ्री जोन व पार्कों के निर्माण के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे है। नोएडा प्राधिकरण द्वारा शहर को पर्यावरण के प्रति अनुकूल बनाने के लिए एक नई पहल शुरू की गई है जिससे नर्सरियों से प्लास्टिक गायब हो जाएगी।
दरअसल, नोएडा प्राधिकरण गाय के गोबर से गमले बनाएगा, जिससे पर्यावरण को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा और पौधे को गोबर के रूप में खाद्य भी मिलता रहेगा। प्राधिकरण ने इसकी शुरुआत कर दी है। यह ईको फ्रेंडली गमला 30  उपलब्ध किया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण के सीईओ आलोक टंडन के निर्देश पर यह पहल शुरू की गई है।



आज नोएडा प्राधिकरण के महाप्रबंधक राजीव त्यागी और उनकी टीम ने सेक्टर 94 स्थित श्रीजी गौ सदन का निरीक्षण किया इस निरीक्षण के दौरान उनके साथ श्रीजी गौ सदन के तमाम पदाधिकारी मौजूद रहे। महाप्रबंधक राजीव त्यागी ने ईको फ्रेंडली गमलों के निर्माण में गोबर की जरूरत के लिए यहाँ के अधिकारियों के साथ गौसदन का निरिक्षण किया।
इस दौरान उन्होंने बताया कि शहर की गौशालाओं से निकलने वाले  गोबर का प्रयोग गमले बनाने के लिए किया जाएगा। इस तरह के गमले बनाने के लिए किसी मशीन और बिजली की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। सोलर गर्मी के जरिए इस प्रकार के गमलों को बनाया जा सकता है। इन गमलों को बनाने के लिए गाय के गोबर के अलावा पीली मिटटी, सूखे पत्ते भूसा आदि से तैयार किया जाता है।
इन गमलों का प्रयोग प्राधिकरण अपनी नर्सरियों में करेगा। यहां पर प्लास्टिक की पॉलिथीन में लगे  पौधों को गोबर के गमलों में शिफ्ट किया जाएगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.