- Advertisement -

वीवीआईपी दौरों के बीच भी खाली हाथ नोएडा – ग्रेटर नोएडा के घर ख़रीददार, सरकार से नाखुश लोग अब चुनेंगे नोटा

ROHIT SHARMA / TALIB KHAN

नोएडा :– नोएडा और ग्रेटर नोएडा में उत्तर प्रदेश के राज्य मंत्री , केंद्रीय मंत्री, उपमुख्यमंत्री , मुख्यमन्त्री और प्रधानमंत्री पिछले कई सालों से कई बार आते रहे है , लेकिन क्या वजह है की आज तक ग्रेटर नोएडा की प्रमुख समस्या का निस्तारण नही हो सका है। जी हाँ हम बात कर रहे है किसान का मुआवजे का मुद्दा और फ्लैट बायर्स का घर ना मिलने का दर्द । इन दोनों समस्या से सभी मंत्री अवगत है , फिर इस मामले का निस्तारण कभी नही हुआ ।

चुनाव आते है सभी मंत्री अपने दावे करते है कि फ्लैट बायर्स और किसान को हक़ दिलवा कर रहेंगे , लेकिन फिर धीरे धीरे सब ठंडा पड़ जाता है । अब लोकसभा के चुनाव आने वाले है , फिर वही वादे नए प्रत्याशी शहर के लोगों के सामने रखेगी ।

खासबात यह है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा में उत्तर प्रदेश के मंत्री , केंद्रीय मंत्री , उपमुख्यमंत्री , मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री आने के बावजूद भी इन दोनों समस्याओं का पूर्णतः समाधान नही हुआ । वही दूसरी तरफ किसान और फ्लैट बायर्स अगर इन मंत्रियों के प्रोग्राम के बाहर प्रदर्शन करके अपनी समस्याओं को रखने की कोशिश भी करे तो जिला और पुलिस प्रशासन नही करने देती है , जिसके कारण मंत्रियों को नही पता चल पाता है ।



वही इस मामले में नेफोवा संस्था की महासचिव स्वेता का कहना है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में होम बायर्स की चल रही समस्याओ का आजतक किसी सरकार ने निस्तारण नही किया है । साथ ही उनका कहना है कि सभी सरकारों के वादे झूठे निकले है । सभी मंत्री और मुख्यमंत्री के दावे सिर्फ हवा में देखने को मिलते है , लेकिन ज़मीन पर कुछ नही दिखाई देता है । अगर इस मामले में अपने हक लिए लड़ाई करे तो जिला प्रशासन होम बायर्स के खिलाफ कार्यवाही शुरू कर देता है ।

वही दूसरी तरफ सभी होम बायर्स ने अपने मन मे बैठा लिया है कि इस बार लोकसभा चुनावों में सभी नोटा का बटन दबाएंगे , जिससे सरकार को पता चल सके कि वादे पूरा न करने पर सरकार को कितना नुकसान हो सकता है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.